आरुषि केस : कोर्ट परिसर में तलवार पर हमला

खास बातें

  • गाजियाबाद कोर्ट में जिस शख्स ने आरुषि के पिता राजेश तलवार पर हमला किया, वह रुचिका केस के आरोपी एसपीएस राठौड़ पर भी हमला कर चुका है।
गाजियाबाद:

नोएडा के चर्चित आरुषि और हेमराज हत्याकांड की सुनवाई के लिए गाजियाबाद कोर्ट पहुंचे आरुषि के पिता डॉक्टर राजेश तलवार पर एक शख्स ने हमला कर दिया। हमले में डॉक्टर तलवार घायल हो गए। रुचिका गिरहोत्रा मामले में आरोपी हरियाणा के पूर्व डीजीपी एसपीएस राठौड़ पर कोर्ट में हमला करने वाले शख्स ने ही राजेश तलवार पर भी हमला किया। इस शख्स का नाम उत्सव शर्मा है। गाजियाबाद के एसपी के मुताबिक उत्सव शर्मा का कहना है कि अदालती फैसले में देरी से वह नाराज था, इसीलिए उसने यह हमला किया। उत्सव शर्मा पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज किया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि हमलावर युवक ने डॉक्टर तलवार पर धारदार हथियार से हमला कर दिया, जिससे उनके सिरे के बायें हिस्से से काफी खून निकलने लगा। इस घटनाक्रम के बीच युवक को वहां खड़े लोगों ने पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस उसे अदालत परिसर में लॉकअप में ले गई। वकीलों ने कहा कि इस घटना के बाद मामले की सुनवाई टाल दी गई और सुनवाई की अगली तारीख 8 फरवरी निर्धारित की गई। राजेश तलवार को अस्पताल ले जाया गया है, जहां उनका उपचार चल रहा है और वह खतरे से बाहर बताए गए हैं। तलवार आरुषि केस की सुनवाई के लिए अदालत गए थे। गौरतलब है कि आरुषि-हेमराज दोहरे हत्याकांड में सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट के खिलाफ राजेश तलवार ने 86 पन्नों की विरोध याचिका दायर की है और इस मामले की नए सिरे से जांच की मांग रखी है।इससे पहले गत शुक्रवार को मामले की सुनवाई के दौरान विशेष अदालत ने इस हत्याकांड से जुड़े दस्तावेज आरुषि के पिता राजेश तलवार को न देने का आदेश दिया था। अदालत ने यह आदेश आदेश तलवार को 'संदिग्ध अभियुक्त' बताने के बाद दिया था। गौरतलब है कि 16 मई, 2008 को नोएडा के जलवायु विहार अपार्टमेंट में 14 वर्षीय आरुषि का शव बरामद किया गया था। शुरुआत में तलवार दंपति के घरेलू नौकर हेमराज को हत्या का संदिग्ध बताया गया था, लेकिन एक दिन बाद ही हेमराज का शव भी छत से बरामद किया गया था। इस हत्याकांड के बाद राजेश तलवार को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन उनके खिलाफ सबूत न होने की वजह से छोड़ दिया गया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com