मुस्लिम सहकर्मी का समर्थन करने पर BHU प्रोफेसर पर हमला

साल्वी ने आरोप लगाया कि एक सहकर्मी ने ही छात्रों को उकसाया था, लेकिन मीडिया के सामने उसका नाम नहीं लेंगे.

मुस्लिम सहकर्मी का समर्थन करने पर BHU प्रोफेसर पर हमला

फिरोज खान का समर्थन करने पर BHU में प्रोफेसर पर हमला

वाराणसी:

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) में संस्कृत प्रोफेसर पर कथित रूप से छात्रों ने इसलिए हमला कर दिया, क्योंकि प्रोफेसर ने अपने मुस्लिम सहकर्मी, फिरोज खान का समर्थन किया था, जिनकी सहायक प्रोफेसर के रूप में विभाग में नियुक्ति को लेकर छात्र विरोध करते आ रहे हैं. यह दलित प्रोफेसर संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान (एसवीडीवी) विभाग में एक वरिष्ठ संकाय सदस्य हैं, जहां खान को नियुक्त किया गया है.

BHU प्रोफेसर फिरोज खान के खिलाफ वीसी आवास के सामने छात्रों का 15 दिनों से चल रहा धरना खत्म, जारी रखेंगे आंदोलन

सोमवार को हुई इस घटना के बाद प्रोफेसर शांतिलाल साल्वी ने यहां संवाददाताओं को बताया, "मैं एक कक्षा में बैठा था जब कुछ छात्रों ने अंदर घुसकर मेरे साथ अभद्र भाषा में गाली-गलौज शुरू कर दी. उन्होंने मुझसे संकाय में एक मुस्लिम की नियुक्ति का समर्थन करना बंद करने को कहा."उन्होंने कहा, "मैं असुरक्षित महसूस करने लगा और बाहर आ गया. तब कुछ छात्रों ने मुझ पर पत्थर फेंके और बाद में मेरे साथ धक्का-मुक्की की. मैं बच गया क्योंकि एक अजनबी ने मुझे अपनी स्कूटी पर लिफ्ट दे दी."

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने किया BHU छात्रों के विरोध का समर्थन, कहा- विभाग में नहीं होना चाहिए गैर हिंदू का प्रवेश

साल्वी ने आरोप लगाया कि एक सहकर्मी ने ही छात्रों को उकसाया था, लेकिन मीडिया के सामने उसका नाम नहीं लेंगे. उन्होंने कहा, "मैंने विभाग के एक प्रोफेसर और कुछ छात्रों के खिलाफ कुलपति राकेश भटनागर से शिकायत की है."एक छात्र, जो साल्वी को निशाने पर लेने वाले समूह का हिस्सा था, उसने कहा कि उन्होंने केवल प्रोफेसर से खान का समर्थन करना बंद करने के लिए कहा था और उन पर कभी हमला नहीं किया.

कौन हैं फिरोज खान, जिनकी नियुक्‍ति पर बीएचयू में मचा है बवाल

गौरतलब है कि संस्कृत विद्या धर्म विभाग के कुछ छात्र इस आधार पर खान की नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं कि एक मुसलमान हिंदू धर्म ग्रंथों को नहीं पढ़ा सकता है, जिसमें विभाग का पाठ्यक्रम शामिल है. ऐसी अटकलें हैं कि एक समझौते के रूप में खान को आयुर्वेद विभाग के तहत आने वाले संहिता और संस्कृत विभाग में या कला संकाय के संस्कृत विभाग में स्थानांतरित किया जा सकता है. फिरोज खान 29 नवंबर और चार दिसंबर को दोनों विभागों द्वारा आयोजित साक्षात्कारों में उपस्थित हुए थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि खान की नियुक्ति के एक दिन बाद आठ नवंबर से संस्कृत विद्या धर्म विभाग में कोई कक्षाएं नहीं हुई हैं. चीफ प्रॉक्टर ओ.पी.राय ने सोमवार को प्रदर्शनकारी छात्रों से मुलाकात की और कहा कि खान की नियुक्ति पर जल्द ही विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद में चर्चा होगी.विरोध प्रदर्शन के कारण सेमेस्टर परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं. प्रॉक्टर ने संवाददाताओं से कहा, "विभाग में सेमेस्टर परीक्षा की अगली तारीख जल्द ही घोषित की जाएगी."

VIDEO: BHU में मुस्लिम संस्कृत टीचर पर क्यों हो रहा विवाद?



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)