NDTV Khabar

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अयोध्या समेत कई शहरों का किया जाएगा कायाकल्प

इस सूची के अन्य शहरों में गया, मथुरा, वाराणसी, सारनाथ, गोरखपुर, आगरा, अमृतसर, कन्याकुमारी और गुवाहाटी शामिल हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अयोध्या समेत कई शहरों का किया जाएगा कायाकल्प

फाइल फोटो

खास बातें

  1. रामायण संग्रहालय के लिए भूखंड को मंजूरी
  2. केंद्र ने भी बढ़ाया अयोध्या पर ध्यान
  3. पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सजाया जाएगा
नई दिल्‍ली:

अयोध्या को पर्यटन मंत्रालय के उन शहरों की सूची में शामिल किया गया है जिन्हें पर्यटकों को आकषिर्त करने के लिए आलीशान होटलों, हाई टेक रेलवे स्टेशन और अत्याधुनिक परिसर से सुसज्जित किया जाएगा. योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के दो ही महीने बाद केंद्र का अयोध्या पर ध्यान बढ़ गया है. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद 225 करोड़ रुपये के रामायण संग्रहालय के लिए काफी समय से लंबित भूखंड को मंजूरी दे दी गई. अयोध्या को रामायण में हिंदू भगवान राम का जन्मस्थल बताया गया है. यह स्थान मंत्रालय द्वारा आयोजित बहु प्रचारित रामायण सर्किट का भी केंद्र बिंदु बन गया है. अब इसे उन 10 शहरों में शामिल किया गया है जिन्हें पर्यटकों को आकषिर्त करने के लिए विकसित किया जाएगा.

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘इन शहरों में हम एक पर्यटक परिसर बनाना चाहते हैं. पर्यटक यहां केवल एक दिन की यात्रा के रूप में घूमने नहीं आएं, बल्कि उनमें यहां रुकने की इच्छा पैदा करनी चाहिए. इसके पीछे का विचार स्थानीय व्यापार और उद्योग को बढ़ावा देना है.’’


टिप्पणियां

इस सूची के अन्य शहरों में गया, मथुरा, वाराणसी, सारनाथ, गोरखपुर, आगरा, अमृतसर, कन्याकुमारी और गुवाहाटी शामिल हैं. इन जगहों पर एक पांच सितारा होटल, एक हवाईअड्डा, आवश्यकता पड़ने पर वाई-फाई और अन्य सुविधाओं के साथ एक रेलवे स्टेशन और सड़कों का सुचारू नेटवर्क एवं संचार लाइनें विकसित की जाएंगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement