NDTV Khabar

अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर आसमान से निगरानी, यूपी के हर जिले में तगड़ी सुरक्षा

उत्तरप्रदेश में पुलिस को दंगा काबू करने की ट्रेनिंग दी जा रही, गिरफ्तारी की जरूरत पड़ने पर उपयोग के लिए आठ अस्थायी जेलें बना दी गईं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर आसमान से निगरानी, यूपी के हर जिले में तगड़ी सुरक्षा

अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में आने वाले कोर्ट के फैसले के मद्देनजर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

खास बातें

  1. दंगाइयों से निपटने के लिए पुलिस लाइनों में चल रही रिहर्सल
  2. सद्भाव बनाने के लिए हर जिले में सम्मेलनों का आयोजन हो रहा
  3. पर्सनल लॉ बोर्ड ने लोगों को संयम बरतने की सलाह दी
लखनऊ:

अयोध्या विवाद के फैसले को लेकर यूपी में जबरदस्त सुरक्षा इंतज़ाम किए जा रहे हैं. अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर ड्रोन से नज़र रखी जा रही है और बड़े पैमाने पर फोर्स तैनात की गई है. यूपी के तमाम जिलों में पुलिस को दंगा काबू करने की ट्रेनिंग दी जा रही है. गिरफ्तारी की जरूरत पड़ने पर आठ टेंपरेरी  जेलें बना दी गई हैं. साथ ही सद्भाव के लिए हर जिले में सम्मेलन हो रहे हैं. ड्रोन के जरिए आसमान से अयोध्या की निगरानी शुरू हो गई है. सरयू तट से लेकर हर बड़े मंदिर पर आसमान से भी नज़र रखी जा रही है. एक ऐसे वक्त जब अयोध्या पर फैसला आने को है यहां 84 कोसी परिक्रमा और कार्तिक पूर्णिमा की वजह से लाखों लोग आ रहे हैं. इसलिए यह चुनौती बहुत बड़ी है, लेकिन ज़मीन पर भी कोई कम इंतज़ाम नहीं हैं.

यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि 'हम पूरी कर्मठता के साथ और व्यापक तौर पर प्रदेश के कोने-कोने में निगरानी रख रहे हैं. हमने अपनी इंटेलिजेंस मशीनरी को गियर अप कर रखा है. हमारे वॉलेंटियर, हमारे पुलिस कर्मी जगह-जगह सब पर नजर रखे हुए हैं. और यदि जरूरत होगी तो हम अपराधियों के विरुद्ध नेशनल सिक्यूरिटी एक्ट भी लगा सकते हैं.'


जगह-जगह पुलिस रिहर्सल कर रही है कि अगर कहीं दंगा भड़क जाए तो वह दंगाइयों से कैसे निपटे और और जनता को उनसे कैसे बचाए. इसके लिए तमाम जिलों की पुलिस लाइनों में दंगाई बने सादे लिबास में पुलिस वाले वर्दी वाले पुलिस वालों पर पथराव करते हैं...और वर्दी वाले उन्हें काबू में करते हैं.

राम जन्मभूमि मामला: गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को चौकन्ना रहने के लिए कहा

इटावा के एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने कहा कि 'हमारी तैयारी अयोध्या का जो डिसीजन आना है, और जो हुमारी चुनौतियां हैं, उसके दृष्टिगत हैं. जनपद इटावा में पुलिस की कानून व्यवस्था के हिसाब से तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं. जितनी भी गाड़ियों की जरूरत है, जितनी भी फोर्स की जरूरत है, वह सारी स्ट्रेटजी बना ली गई है.'

अयोध्या केस पर फैसले को लेकर PM मोदी ने मंत्रियों को दिए निर्देश- अनावश्यक बयानबाजी से बचें

पिछले जुमे को यूपी की तमाम मस्जिदों में पेश इमामों ने अपने अपने ख़ुतबों में अपील की थी कि यह महीना पैगंबर मोहम्मद साहब की पैदाइश का है इसलिए इसके एहतेराम में कुछ गलत न करें. और अगर कोई गलत कर रहा है तो उसका जवाब न दें. लखनऊ में आज भी ईदगाह में एक सर्वधर्म सम्मेलन हुआ जिसमें फ़ैसले के बाद शांति रखने की अपील की गई.

Ayodhya Case : मौलाना मदनी ने कहा, सबूतों के आधार पर दिया गया फैसला मान्य होगा

पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य खालिद रशीद ने कहा कि 'न कोई नारेबाज़ी करें, न कोई ऐसा क़दम उठाएं, न कोई ऐसा स्टेटमेंट दें.. जिससे दूसरी कम्युनिटी के रिलीजियस सेंटिमेंट या दूसरी कम्यूनिटी के मज़हबी जज़्बात मजरूह हों या उसको ठेस पहुंचे. जिससे कि पूरे तरीक़े से पूरे मुल्क में अमन-ओ-अमान कायम रहे.'

बिहार : अयोध्या मामले पर उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने की संयम रखने की अपील

लेकिन इतने संवेदनशील मुद्दे पर सोशल मीडिया पर तमाम गैर जिम्मेदार और धार्मिक भावनाएं भड़काने वाली पोस्टें और वीडियो मौजूद हैं. उन पर चेक नहीं लग पाया है.

VIDEO : अयोध्या के फैसले से पहले कड़ी सुरक्षा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement