अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण: अब तीन की जगह 5 शिखर होंगे, जानिए कितना अलग है नया मॉडल

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के लिए भव्य तैयारियां चल रही हैं. बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम की तारीख 5 अगस्त को तय की गई है जिसमें पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह के अलावा मंदिर आंदोलन से जुड़े लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के आने की संभावना है.

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण:  अब तीन की जगह 5 शिखर होंगे, जानिए कितना अलग है नया मॉडल

अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन 5 अगस्त को तय माना जा रहा है.

नई दिल्ली :

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir in Ayodhya) के लिए भूमि पूजन के लिए भव्य तैयारियां चल रही हैं. बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम की तारीख 5 अगस्त को तय की गई है जिसमें पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह के अलावा मंदिर आंदोलन से जुड़े लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के आने की संभावना है. हालांकि पीएम मोदी के आने के पुष्टि अभी तक नहीं की गई है. इस कार्यक्रम में चांदी की शिलाओं का पूजन किया जाएगा. जिन्हें महंत नृत्य गोपाल दास मंदिर को अर्पित करेंगे. काशी और अयोध्या के 11 पुजारी पूजन करवाएंगे. हालांकि कोरोना की वजह से इस आयोजन में कम ही लोग शामिल होंगे. मिल रही जानकारी के मुताबिक भूमि पूजन गर्भगृह वाले स्थान पर होगा.  5 शिलाओं का पूजन होगा. इसके लिए 40 किलो के वजन वाली शिलाएं बनवाई गई हैं.  

तराशी गई शिलाओं को किया जा रहा है साफ
ट्रस्ट के सदस्य कामेश्ववर चौपाल ने बताया कि राम मंदिर में लगने वाली शिलाओं को तराशने के बाद अब धुलाई का काम शुरू हो गया है. मंदिर के पुराने नाप के हिसाब से 175000 स्क्वाएर फिट पत्थरों की जरूरत थी. करीब एक लाख स्क्वाएर फिट पत्थर तराशे जा चुके हैं. अब मंदिर बड़ा बनने से ज्यादा पत्थरों की जरूरत होगी. 

पुराने मॉडल से कितना अलग होगा नया मंदिर
कामेश्वर चौपाल ने बताया कि मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है. लेकिन भव्यता के लिए ऊंचाई और दिव्यता के लिए थोड़ी चौड़ाई बढ़ा दी जाएगी. जब उनसे पूछा गया कि पहले तीन गुंबद थे और अब पांच गुंबद हो जाएंगे तो इस पर उन्होंने कहा कि उनका जवाब था कि पहले नाप  47000 स्क्वाएर फिट थी अब  57000 स्काएर फिट हो जाएगी तो पांच गुंबद भरने हैं और अब मंदिर की ऊंचाई 161 फिट हो जाएगा.

क्या हुआ परिवर्तन

  • पहले मंदिर में तीन शिखर थे अब 5 शिखर होंगे
  • पहले मंदिर का निर्माण का एरिया  47000 स्काएर फिट था अब  57000 स्क्वएर फिट होगा. 
  • पहले मंदिर की ऊंचाई 128 फिट थी अब 161 फिट होगी. 
  • मंदिर परिसर के चारो ओर सीता जी, लक्ष्मण, भरत जी और गणेश जी के 4 मंदिर बनाने की बात भी राय आई है. 
  • मंदिर का एरिया 67 एकड़ से ज्यादा बढ़ाने की भी राय है.

देश प्रदेश: राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए चल रही भव्य तैयारी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com