NDTV Khabar

अयोध्या फैसला: कुमार विश्वास ने की शांति की अपील, कहा- धार्मिक कट्टरता ठीक नहीं, भारतीय होने से है हमारी पहचान

कुमार विश्वास ने शुक्रवार-शनिवार को देर रात फेसबुक पर लाइव आकर लोगों से कहा कि दुनिया में कई देश हैं, जो भारत की बर्बादी पर खुश होते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अयोध्या फैसला: कुमार विश्वास ने की शांति की अपील, कहा- धार्मिक कट्टरता ठीक नहीं, भारतीय होने से है हमारी पहचान
नई दिल्ली:

अयोध्या मामले को लेकर सरकार और देश भर के कई गणमान्य लोग शांति बनाए रखने की अपील कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी निर्णय हो उसे हिंदू-मुस्लिम दोनों ही धर्म दिल से स्वीकार करें. इसी कड़ी में जाने-माने युवा पीढ़ी के हिंदी कवि कुमार विश्वास ने भी देशवासियों से शांति की अपील की है. उन्होंने दोनों ही धर्म के लोगों से कहा कि शनिवार को जो भी निर्णय आए उसे सर माथे रखकर स्वीकार करना चाहिए. कुमार विश्वास ने सभी से सद्भाव रखने औैर किसी तरह की हिंसा न करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि हमें ये सोचकर इस निर्णय का स्वागत करना होगा कि जो भी हो रहा है वह इस देश के भविष्य और  यहां के लोगों के लिए सबसे बेहतर है. 

अयोध्या पर फैसले से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपील, कहा- जीत-हार से न जोड़ा जाए


कुमार विश्वास ने शुक्रवार-शनिवार को देर रात फेसबुक पर लाइव आकर लोगों से कहा कि दुनिया में कई देश हैं, जो भारत की बर्बादी पर खुश होते हैं. हमें कल के निर्णय के बाद ऐसा कुछ नहीं करना है कि उन लोगों को हमारे बारे में कहने का मौका मिले. उन्होंने कहा कि भाई चारे के साथ धार्मिक कट्टरता को छोड़ दोनों ही मजहब के लोग जो निर्णय आए उसे मानें. हमारी पहचान किसी धर्म से पहले एक भारतीय की है. 

कुमार ने कहा कि अगर किसी धर्म के लोगों को लगे कि उनके पक्ष में निर्णय में आने में कुछ थोड़ी बहुत कमी रही है, तो इसे भी दिल से स्वीकार करें क्योंकि काफी लंबे इंतजार के बाद ये फैसला आ रहा है और अब इससे आगे बढ़कर देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर करना है. 

अयोध्या मामले पर फैसले से पहले पीएम मोदी ने जनता से की यह अपील

कुमार विश्वास ने इस दौरान रामायण से जुड़े एक प्रसंग के साथ-साथ पैगंबर मोहम्मद साहब की सीख का भी जिक्र किया. इन्होंने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की वो बात दोहराई जब उन्होंने संसद में एक बार कहा था कि सरकारें आएंगी और जाएंगी, ये लोकतंत्र रहना चाहिए, ये देश रहना चाहिए. अंत में उन्होंने काफी रात में लाइव आने के लिए लोगों से माफी भी मांगी. 

टिप्पणियां

बता दें शनिवार को बाबरी-राम मंदिर विवाद में सुबह 10:30 बजे फैसला आना है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बैंच ये ऐतिहासिक फैसला सुनाएगी. वहीं इस निर्णय के मद्देनजर देश भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement