NDTV Khabar

गिरिराज सिंह बोले, हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम हो, तो आजम खान बोले- फांसी क्यों नहीं...

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान 1947 की तरह सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गिरिराज सिंह बोले, हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम हो, तो आजम खान बोले- फांसी क्यों नहीं...

गिरिराज सिंह (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर दिया था बयान
  2. कहा- हिंदू-मुस्लिम दोनों को 2 बच्चे से ज्यादा नहीं पैदा करना चाहिए
  3. सपा नेता आजम खान ने गिरिराज सिंह पर किया पलटवार
नई दिल्ली :

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान 1947 की तरह सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है. जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक कारण है. हिंदुस्तान 47 की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है. उन्होंने आगे लिखा, सभी राजनीतिक दलों को जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए आगे आना होगा. दूसरी तरफ, समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता व सांसद आजम खां ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर पलटवार किया है. उन्होंने गुरुवार को तंज कसते हुए कहा कि दो-तीन से ज्यादा बच्चे पैदा करने वाले पति-पत्नी को फांसी दे देनी चाहिए. 

टिप्पणियां

सपा नेता ने अपने बयान में कहा, "दो से ज्यादा बच्चे होने पर वोटिंग का अधिकार क्या खत्म करना, फांसी ही दे देनी चाहिए। इसके बाद अगला बच्चा होगा ही नहीं, क्योंकि इसके बाद न रहेगा बांस और न बजेगी बांसुरी." सांसद आजम ने कहा कि देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है. मौजूदा केंद्र सरकार के शासन से अंग्रेजों का शासन बेहतर था. बता दें बेगूसराय के भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर कहा था कि देश में हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए और जो इस नियम को न माने, उसका मताधिकार खत्म कर दिया जाना चाहिए. 


VIDEO: गिरिराज सिंह ने इफ्तार की फोटो ट्वीट कर नीतीश कुमार पर कसा तंज



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement