Babri Demolition Case: 49 में से 17 आरोपियों की हो चुकी है मौत, ये हैं बचे हुए 32 आरोपी

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस (Babri Masjid Demolition Case) में 30 सितंबर यानी बुधवार को लखनऊ की एक स्पेशल सीबीआई कोर्ट फैसला सुनाने वाली है.

Babri Demolition Case: 49 में से 17 आरोपियों की हो चुकी है मौत, ये हैं बचे हुए 32 आरोपी

28 सालों बाद 30 सितंबर को आएगा फैसला

लखनऊ:

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस (Babri Masjid Demolition Case) में 30 सितंबर यानी बुधवार को लखनऊ की एक स्पेशल सीबीआई कोर्ट फैसला सुनाने वाली है. इस केस में बीजेपी के वरिष्ठ नेता एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह और अन्य लोग मुख्य आरोपी हैं. कोर्ट की तरफ से सभी आरोपियों को उस दिन कोर्ट में मौजूद रहने को कहा है. बाबरी मस्जिद केस में सी बी आई ने 49 लोगों को अभियुक्त बनाया था,जिनमें से 17 की मौत हो गयी है जबकि 32 अभियुक्तों पर अभी मुक़दमा चल रहा है. 

जो 32 अभियुक्त मुक़दमे में हैं उनके नाम हैं:

  1. लालकृष्ण आडवाणी
  2. मुरली मनोहर जोशी
  3. कल्याण सिंह
  4. उमा भारती 
  5. विनय कटियार
  6. साध्वी ऋतंभरा
  7. महंत नृत्य गोपाल दास
  8. डॉ. राम विलास वेदांती
  9. चंपत राय
  10. महंत धर्मदास
  11. सतीश प्रधान
  12. पवन कुमार पांडेय
  13. लल्लू सिंह
  14. प्रकाश शर्मा
  15. विजय बहादुर सिंह
  16. संतोष दुबे
  17. गांधी यादव
  18. रामजी गुप्ता
  19. ब्रज भूषण शरण सिंह
  20. कमलेश त्रिपाठी
  21. रामचंद्र खत्री
  22. जय भगवान गोयल
  23. ओम प्रकाश पांडेय
  24. अमर नाथ गोयल
  25. जयभान सिंह पवैया
  26. महाराज स्वामी साक्षी
  27. विनय कुमार राय
  28. नवीन भाई शुक्ला
  29. आरएन श्रीवास्तव
  30. आचार्य धर्मेंद्र देव
  31. सुधीर कुमार कक्कड़ 
  32. धर्मेंद्र सिंह गुर्जर.

जिन 17 आरोपियों का निधन हो चुका है उनके नाम हैं

  1. अशोक सिंघल
  2. गिरिराज किशोर
  3. विष्णु हरि डालमिया
  4. मोरेश्वर सावें
  5. महंत अवैद्यनाथ
  6. महामंडलेश्वर जगदीश मुनि 
  7. बैकुंठ लाल शर्मा
  8. परमहंस रामचंद्र दास
  9. डॉ. सतीश नागर
  10. बालासाहेब ठाकरे
  11. डीबी राय
  12. रमेश प्रताप सिंह
  13. हरगोविंद सिंह
  14. लक्ष्मी नारायण दास
  15. राम नारायण दास
  16. विनोद कुमार बंसल
  17. राजमाता सिंधिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि 6 दिसंबर,1992 को एक भीड़ के द्वारा बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया गया था. जिसके बाद देश भर में दो समुदायों के बीच तनाव व्याप्त हो गया था. पिछले 28 सालों में कई बार इस मामले के जल्द निपटारे की बात कहीं गयी थी. 

Babri Demolition Case: 28 सालों से कानूनी पेंच में फंसे केस में आ रहा है फैसला, ये रही केस की टाइमलाइन