NDTV Khabar

केंद्रीय मंत्री और पश्चिम बंगाल से सांसद बाबुल सुप्रियो का ट्वीट- 19 में हाफ हुए थे 21 में साफ हो जाएंगे

लोकसभा चुनाव के बाद रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक बड़ी रैली को संबोधित किया है.  इस रैली में भी ममता बनर्जी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीता लोकसभा चुनाव मिस्ट्री (रहस्य) है न कि हिस्ट्री (इतिहास).

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्रीय मंत्री और पश्चिम बंगाल से सांसद बाबुल सुप्रियो का ट्वीट- 19 में हाफ हुए थे 21 में साफ हो जाएंगे

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री और पश्चिम बंगाल से बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने ट्वीट किया, '19 में हाफ हुए थे 21 में साफ हो जाएंगे. उनके कहने का मतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की सीट घटकर आधी होने और 2021 के आगामी विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के साफ हो जाने से है. इस बीच, बंगला फिल्म जगत के दो अभिनेता रिमझिम मित्रा और सुरोजीत चौधरी ने बुधवार को बीजेपी का दामन थाम लिया है. दरअसल पश्चिम बंगाल में अब विधानसभा चुनाव को लेकर तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच जंग अभी से शुरू हो गई है. लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली 18 सीटें के बाद से पार्टी से लगातार लोग जुड़ रहे हैं और इसी बीच आरएसएस भी वहां पैठ जमाने में लगा हुआ है. इसका नतीजा है राज्य में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, मारपीट की खबरें लगातार आ रही हैं. वहीं लोकसभा चुनाव के बाद रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक बड़ी रैली को संबोधित किया है.  इस रैली में भी ममता बनर्जी ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीता लोकसभा चुनाव मिस्ट्री (रहस्य) है न कि हिस्ट्री (इतिहास). बनर्जी ने कहा कि बीजेपी ने चुनाव आयोग, केंद्रीय सुरक्षा बल और ईवीएम के जरिए चुनाव जीता है. इसके साथ ही उन्होंने चुनाव से मांग करते हुए  कि पंचायत और निकाय चुनाव बैलेट पेपर से कराए जाएं.


बीजेपी ने ममता बनर्जी से पूछा- TMC नेताओं को जो सीबीआई अधिकारी धमका रहे हैं उनके नाम बताएं

इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी नेताओं को केंद्रीय एजेंसिया धमका रही हैं कि उनको पोंजी स्कीमों में फंसा दिया जाएगा. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने ‘शहीद दिवस' रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि भगवा पार्टी तृणमूल के विधायकों को पैसे व अन्य लाभों से ललचा कर ' कर्नाटक का खरीद-फरोख्त मॉडल' लागू करना चाहती है. ममता ने कहा कि पार्टी 26 जुलाई को राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करेगी और बीजेपी द्वारा ‘‘जुटाए गए'' काले धन को वापस करने की मांग करेगी.     

कोलकाता की रैली में बोलीं ममता बनर्जी- वे ईवीएम, सीआरपीएफ चुनाव आयोग के दम पर चुनाव जीते हैं

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए घोष ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के किसी भी विधायक का इतना ज्यादा ‘बाज़ार मूल्य' नहीं है. यदि वे लोग सड़क पर भी खड़े हो जाएं तो भी उन्हें खरीदने में कोई रूचि नहीं लेगा. उन्होंने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस की वार्षिक रैली में उसके इतिहास में सबसे कम लोग पहुंचे. प्रदेश भाजपा प्रमुख ने कहा, ‘‘ यह स्पष्ट हो गया है कि लोगों ने ममता बनर्जी और उनकी पार्टी को खारिज कर दिया है. धन और अच्छे खाने का प्रलोभन भी स्थल पर खचाखच भीड़ नहीं जुटा पाया. यह दिखाता है कि तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में जमीन खो दी है.'' उन्होंने रेल सेवा में कटौती के बनर्जी के आरोप का भी खंडन किया है.    

टिप्पणियां

इनपुट भाषा से भी
 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement