NDTV Khabar

मध्‍य प्रदेश : बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाने पर हमला कर अपने नेता को छुड़ाया

शराब पीकर पुलिस से मारपीट के आरोप में पकड़े गए बजरंग दल के नेता कमलेश ठाकुर को छुड़ाने के लिए समर्थकों ने पुलिस थाने में हंगामा कर दिया.

16859 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्‍य प्रदेश : बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाने पर हमला कर अपने नेता को छुड़ाया

कमलेश ठाकुर (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शराब पीकर मारपीट के आरोप में पुलिस ने पकड़ा
  2. आरोपी कमलेश ठाकुर बजरंग दल का प्रांतीय संयोजक
  3. थाने में पहुंचे 50-60 कार्यकर्ता छुड़ाकर ले गए
भोपाल: राजधानी भोपाल में पुलिस शुक्रवार रात बजरंग दल के एक नेता और कुछ कार्यकर्ताओं के सामने बेबस नजर आई. शराब पीकर पुलिस से मारपीट के आरोप में पकड़े गए बजरंग दल के नेता कमलेश ठाकुर को छुड़ाने के लिए समर्थकों ने पुलिस थाने में हंगामा कर दिया. जब पुलिस प्रदर्शनकारियों को रोकने चाहा तो उन्होंने सड़क पर चक्काजाम करने की कोशिश की. पुलिस की मौजूदगी में प्रदर्शनकारी आरोपी को ना सिर्फ छुड़ा कर ले गये, बल्कि खाकी को मुंह चिढ़ाते हुए उसे कंधे पर बिठाकर घुमाने लगे.

पुलिस सूत्रों के आरोप है कि बजरंग दल का प्रांतीय संयोजक कमलेश ठाकुर नशे में धुत, भोपाल के 10 नंबर मार्केट में शराब पी रहा था, देर रात पुलिस ने इस पर ऐतराज जताया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ गाली गलौच शुरू कर दी. पुलिसकर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने एक पुलिसकर्मी का कॉलर पकड़ लिया. जब पुलिस उसे अपने साथ हबीबगंज थाने लाई तो बजरंग दल के कार्यकर्ता भी वहां जुट गये.

वीडियो

40-50 की तादाद में आए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के सामने पुलिस बेबस खड़ी रही, और कार्यकर्ता अपने नेता को कंधे पर बिठाकर चलते बने. नेता ने खुद को बेकसूर बताया और आरोप लगाने वाले को ही सामने लाने की बात कही. कमलेश ठाकुर ने कहा कि महालक्ष्मी ज्वैलर्स में मैं खरीदारी करने आया, जितने लोग प्लेटफॉर्म पर थे पुलिसवाले वहां से सबको उठाने लगे. मैंने उनको कहा मैं यहां खरीदारी करने आया था लेकिन उन्होंने मुझे लॉकअप में बंद कर दिया. मैंने पूछा भाई कौन फरियादी है जिसकी शिकायत पर मुझे बंद कर दिया लेकिन वो बता नहीं पा रहे हैं.

बजरंग दल के हंगामे को देखते हुए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी हबीबगंज थाने पहुंच गए. मौके पर पहुंचे सीएसपी सीएम द्विवेदी ने पहले कहा थोड़ी गफलत हुई है, इसे देख रहे हैं अगर उनकी कोई आपराधिक भूमिका होगी तो मामला दर्ज किया जाएगा. देर रात आरोपी के खिलाफ सरकारी काम में रूकावट डालने, गाली गलौच और मारपीट करने का मामला दर्ज कर लिया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement