पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलि राम भगत नहीं रहे

खास बातें

  • कांग्रेसी नेता और लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष बलि राम भगत का रविवार की सुबह अस्पताल में निधन हो गया। वह 89 साल के थे।
नई दिल्ली:

कांग्रेसी नेता और लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष बलि राम भगत का रविवार की सुबह अस्पताल में निधन हो गया। वह 89 साल के थे। उनके सहयोगी ने बताया कि अपोलो अस्पताल में यकृत और गुर्दे का इलाज करा रहे भगत का सुबह दो बजकर तीस मिनट पर निधन हो गया। बलि राम भगत के निधन पर सभी राजनीतिक पार्टियों ने शोक व्यक्त किया है। लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार, विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, वरिष्ठ भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी, राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, कांग्रेस के नेता वी नारायणसामी और भीष्म नारायण सिंह ने संसद भवन में उनके पार्थिव शरीर फूल माला अर्पित किए। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्यपाल शिवराज पाटिल ने भगत के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। राजस्थान में उनके निधन पर दो दिन का शोक घोषित किया गया है जिसके दौरान सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे। अपने शोक संदेश में उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने भगत को उत्कृष्ट सांसद करार दिया जिन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में काफी सम्मान और प्रतिष्ठा अर्जित की और जनता के लिए काफी ईमानदारी से काम किया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com