Coronavirus की चुनौती के बीच लोगों ने 5 अप्रैल को पटाखे चलाए तो बंगाल BJP प्रमुख दिलीप घोष बोले, 'इसमें कुछ भी गलत नहीं..'

पीएम मोदी ने कोराना के खिलाफ 'जंग' के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए 5 अप्रैल को रात नौ बजे तक 9 मिनट के लिए घर में दीये, मोमबत्तियां, टॉर्च और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील देशवासियों से की थी.

Coronavirus की चुनौती के बीच लोगों ने 5 अप्रैल को पटाखे चलाए तो बंगाल BJP प्रमुख दिलीप घोष बोले, 'इसमें कुछ भी गलत नहीं..'

Dilip Ghosh ने लोगोेंं के पटाखे चलाने को लेकर गैर जिम्‍मेदाराना बयान दिया है

हावड़ा:

Bengal BJP Chief Dilip Ghosh: कोरोना वायरस (Coronavirus) की चुनौती को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की पांच अप्रैल की '9 बजे, 9 मिनट' की अपील के दौरान अतिउत्‍साही लोगों द्वारा आतिशबाजी और पटाखे (Firecrackers) चलाने के मुद्दे पर पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्‍यक्ष दिलीप घोष (Bengal BJP Chief Dilip Ghosh) ने गैरजिम्‍मेदाराना बयान दिया है. ऐसे समय जब कोरोना वायरस की महामारी से बचाव के उपाय के तहत देश लॉकडाउन का सामना कर रहा है, घोष ने कहा कि खुशी के इजहार के अंतर्गत आतिशबाजी जलाने में कुछ भी गलत नहीं है. गौरतलब है कि पीएम मोदी ने कोराना के खिलाफ 'जंग' के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए 5 अप्रैल को रात नौ बजे तक 9 मिनट के लिए घर में दीये, मोमबत्तियां, टॉर्च और मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील देशवासियों से की थी. उन्‍होंने कोरोना वायरस के खिलाफ देश की एकजुटता दिखाने और इस 'जंग' में जीजान से जुटे डाक्‍टरों, स्‍वास्‍थ्‍य कर्मिेयों और पुलिसकर्मियों के प्रति सपोर्ट दिखाने के लिए यह अपील की थी, लेकिन इस दौरान लोग अतिउत्‍साह में आतिशबाजी छोड़ने और पटाखे चलाने से भी बाज नहीं आए. 

इन लोगों ने सड़क पर निकलकर लॉकडाउन के आदेश की भी धज्जियां उड़ाई. ऐसे समय जब देश और विश्‍व कोरोना की चुनौती और लॉकडाउन का सामना कर रहा है, इस तरह आतिशबाजी चलाने और इस तरह 'जश्‍न मनाने' को लेकर लोगों ने गंभीर सवाल उठाए. महानगर कोलकाता में नियमों का उल्‍लंघन करने के मामले में पुलिस ने 98 लोगों को हिरासत में लिया. ऐसे समय जब कुछ लोगों द्वारा आतिशबाजी चलाने की आलोचना की जा रही है, पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रमुख घोष ऐसा करने वालों के समर्थन में खड़े नजर आए.

उन्‍होंने कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है. दिलीप घोष ने कहा, 'महामारी और लॉकडाउन के कारण लोग मुश्किल की परिस्थितियों में रह रहे हैं. किसी ने भी पटाखे चालने को नहीं कहा था लेकिन यदि उन्‍होंने ऐसा किया है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. मंगलवार सुबह के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4421 हो गई ह, जबकि अभी तक 114 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, 326 लोगों का उपचार हो चुका है. पिछले 24 घंटे की बात करें तो पांच मौत और 354 नए मरीज सामने आए हैं.

वीडियो: कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार की आक्रामण रणनीति

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com