बंगाल की CM ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री किसान योजना राज्‍य में लागू करने के दिए संकेत लेकिन कही यह बात..

ममता बनर्जी ने कहा कि विवादास्पद तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने के वास्ते वह जल्द ही विधानसभा का सत्र आहूत करने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगी.

बंगाल की CM ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री किसान योजना राज्‍य में लागू करने के दिए संकेत लेकिन कही यह बात..

ममता बनर्जी ने कहा, मैंने केंद्र से राज्‍य के किसानों का विवरण साझा करने को कहा है

खास बातें

  • कहा, मुझे लगता है, मामले को सियासी रंग दे रही केंद्र सरकार
  • हमने उन किसानों का ब्‍योरा मांगा जिन्‍होंने पोर्टल पर रजिस्‍टर क‍िया
  • ममता ने कहा, हम इस विवरण के सत्यापन शुरू करेंगे
नई दिल्‍ली:

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने प्रधानमंत्री किसान योजना (PM Kisan Yojna) को अपने राज्‍य में लागू करने को लेकर सहमत होने का संकेत दिया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि उन्होंने केंद्र से उन किसानों का ब्योरा मांगा है जिन्होंने इस कार्यक्रम के लिए केंद्र सरकार के पोर्टल पर अपना पंजीकरण किया है. प्रेसवार्ता के दौरान बनर्जी ने कहा कि विवादास्पद तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने के वास्ते वह जल्द ही विधानसभा का सत्र आहूत करने के लिए आवश्यक कदम उठाएंगी. इन कानूनों के खिलाफ किसान धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं.

तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी के खिलाफ ट्वीट को लेकर कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधा

उन्होंने कहा, ''मैंने कई बार केंद्र सरकार से अनुरोध किया था कि प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत आवंटित राशि राज्य सरकार को स्थानांतरित की जाए. हाल ही में उन्होंने (केंद्र सरकार के अधिकारियों) दावा किया था कि योजना का लाभ लेने के लिए बंगाल के करीब 21.7 लाख किसानों ने पोर्टल पर अपना पंजीकरण किया है.''

भाजपा पर भड़कीं ममता बनर्जी, कहा - टैगोर की धरती पर नफरत की राजनीति नहीं होने दूंगी

मुख्यमंत्री ने कहा, ''उन्होंने (केंद्र) इस डेटा के सत्यापन की मांग की है. मुझे लगता है कि केंद्र इस मामले को राजनीतिक रंग देने का प्रयास कर रहा था. हालांकि, हमें महसूस हुआ कि इसके चलते किसानों को परेशानी नहीं उठानी चाहिए... मैंने केंद्र से किसानों का विवरण साझा करने को कहा है ताकि हम सत्यापन की प्रक्रिया शुरू कर सकें.''


नरेंद्र सिंह तोमर बोले, कृषि कानूनों पर अपनी आपत्तियों को लेकर आगे आएं किसान नेता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)