'केंद्र की तरफ से जारी लिस्ट त्रुटिपूर्ण': कोरोनोवायरस "रेड ज़ोन" को लेकर केंद्र और बंगाल सरकार आमने-सामने

देश में लागू लॉकडाउन के दूसरे चरण के समाप्त होने से पहले केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में 130 जिलों को रेड जोन, 284 को ऑरेंज जोन और 319 को ग्रीन जोन घोषित किया है.

'केंद्र की तरफ से जारी लिस्ट त्रुटिपूर्ण': कोरोनोवायरस

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोलकाता:

देश में जारी कोरोना संकट के बीच कई मु्द्दों पर राज्य और केंद्र की सरकार के बीच विवाद देखने को मिल रहा है. पश्चिम बंगाल सरकार ने दावा किया है कि राज्य में सिर्फ चार ही कोरोनोवायरस "रेड ज़ोन" हैं. बंगाल सरकार ने केंद्र सरकार के उस दावें को गलत बताया है जिसके तहत कहा गया था कि राज्य के 23 जिलों में से 10 जिले COVID-19 की चपेट में हैं. बंगाल के मुख्य स्वस्थ्य सचिव ने केंद्र को लिखे पत्र में कहा है कि COVID-19 के लिए क्षेत्रों के वर्गीकरण के लिए भारत सरकार के वर्तमान मापदंडों के आधार पर, रेड ज़ोन में कोलकाता, हावड़ा, उत्तर 24 परगना और पुरबा मेदिनीपुर जिले ही सिर्फ शामिल हैं.

गौरतलब है कि देश में लागू लॉकडाउन के दूसरे चरण के समाप्त होने से पहले केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में 130 जिलों को रेड जोन, 284 को ऑरेंज जोन और 319 को ग्रीन जोन घोषित किया है. इन इलाकों में कोविड-19 मामलों की संख्या, मामलों के दोगुना होने की दर, जांच की क्षमता और निगरानी एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर इन्हें श्रेणीबद्ध किया गया है. ‘कंटेनमेंट ऑपरेशन' के लिए जिलों के इस वर्गीकरण को राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों द्वारा तीन मई से अपनाया जाएगा। तीन मई को लॉकडाउन का दूसरा चरण समाप्त हो रहा है. 

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कि तरफ से जारी लिस्ट में कहा गया है कि बंगाल के 10 जिले कोरोना के रेड जोन में हैं. उस लिस्ट के अनुसार कोलकाता, हावड़ा, उत्तर 24 परगना और पुरबा मेदिनीपुर जिले के अलावा दक्षिण 24 परगना, पश्चिम मेदिनीपुर, दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी, कालिम्पोंग और मालदाह भी रेड जोन में शामिल है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी लिस्ट को गलत बताते हुए पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से सुधार करने का अनुरोध किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

राज्यों की तरफ से आ रहे हैं शिकायत के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा था, "कुछ राज्यों ने कुछ क्षेत्रों को रेड-ज़ोन में शामिल करने पर सवाल खड़े किये हैं, मैं इस बात पर प्रकाश डालना चाहूंगा कि यह लगातार बदलते रहने वाला सूची है. प्रत्येक सप्ताह इसे संशोधित किया जाएगा और राज्यों को सूचित कर दिया जाएगा."

VIDEO: रेड जोन से ग्रीन जोन में बदलने का समय घटा