NDTV Khabar

बेंगलुरु में 9 साल की बच्ची एक बार बच गई तो मां ने दोबारा घसीटकर छत से फेंका

इस वारदात को होते देख भौंचक्के रह गए पड़ोसियों ने पुलिस के आने तक स्वाति सरकार को एक खंभे से बांधकर रखा था.

942 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेंगलुरु में 9 साल की बच्ची एक बार बच गई तो मां ने दोबारा घसीटकर छत से फेंका

बेंगलुरु में मां ने बेटी को छत से फेंका

खास बातें

  1. मां ने 9 साल की बेटी को छत से फेंका
  2. बेटी को फेंकने के बाद आत्महत्या का इरादा था
  3. स्वाति को सॉफ्टवेयर इंजीनियर से हुई थी शादी
बेंगलुरु: गुस्से में पगलाई एक महिला ने दरिंदगी की हदों को पार करते हुए बेंगलुरु में अपनी नौ साल की बेटी को घर की छत से नीचे फेंक दिया. यही नहीं, जब बच्ची इस तरह फेंके जाने के बाद भी बच गई, तो वह उसे घसीटकर फिर छत पर ले गई, और दोबारा नीचे फेंका. इस बार बच्ची की जान चली गई.

पढ़ें: CCTV में कैद : लड़का न होने की जलन में जेठानी के 18 दिन के बच्चे को छत से फेंका

हत्या की यह वारदात दक्षिणी बेंगलुरु इलाके में रविवार दोपहर को हुई. अपनी नौ-वर्षीय बेटी आशिका की हत्या के आरोप में गिरफ्तार की गई स्वाति सरकार ने कथित रूप से पुलिस को बताया है कि उनकी बेटी मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं थी, और उसकी हत्या करने के बाद स्वाति का आत्महत्या कर लेने का इरादा था.

पढ़ें: पाकिस्तान : क्‍लास रूम साफ करने से मना किया तो शिक्षिकाओं ने छात्रा को छत से नीचे फेंका

इस वारदात को होते देख भौंचक्के रह गए पड़ोसियों ने पुलिस के आने तक स्वाति सरकार को एक खंभे से बांधकर रखा था. 30-वर्षीय स्वाति सरकार की शादी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर से हुई थी, लेकिन इस साल की शुरुआत में दोनों में अलहदगी हो गई थी.

पढ़ें:  बाप ने डेढ़ साल की बच्ची को छत से फेंका



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement