NDTV Khabar

अर्धसैनिक बलों के लिये गृह मंत्रालय के कोष को मिला 10 करोड़ का दान, अक्षय कुमार ने दिया था आइडिया

चरमपंथियों से लड़ते हुये जान बलिदान करने वाले अर्धसैनिक बलों के जवानों के लिये गृह मंत्रालय के कोष में महज तीन महीने के अंदर ही 10 करोड़ से ज्यादा की रकम दान के रूप में आई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अर्धसैनिक बलों के लिये गृह मंत्रालय के कोष को मिला 10 करोड़ का दान, अक्षय कुमार ने दिया था आइडिया

शहीदों के परिवार वालों की मदद के लिए फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने आइडिया था...

खास बातें

  1. फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार के शानदार आइडिया को केंद्र ने अपनाया था
  2. केन्द्रीय बलों के जवानों के परिजनों को ऐप के जरिये दी जाती है मदद
  3. वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन आर्थिक मदद पहुंचाने की सुविधा है
नई दिल्ली:

चरमपंथियों से लड़ते हुये जान बलिदान करने वाले अर्धसैनिक बलों के जवानों के लिये गृह मंत्रालय के कोष में महज तीन महीने के अंदर ही 10 करोड़ से ज्यादा की रकम दान के रूप में आई है.  गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा अप्रैल में शुरू किये गये 'भारत के वीर' फंड में कुल 10.18 करोड़ रुपये जमा हुए हैं. गृह मंत्रालय ने गृह सचिव की अध्यक्षता वाली एक समिति भी गठित की है जो यह देखेगी कि लाभार्थियों को कैसे इस कोष से रकम दी जाएगी.

ये भी पढ़ें
अर्धसैनिक बलों के हर शहीद जवान के परिवार को मुआवजे के तौर पर मिलेंगे एक करोड़ रुपये : राजनाथ

आम लोग 'भारत के वीर' ऐप और वेबसाइट पर जाकर कर्तव्य पथ पर सर्वोच्च बलिदान करने वाले जवानों के परिवारों की मदद के लिये आर्थिक योगदान दे सकते हैं. वेबसाइट पर किया गया आर्थिक योगदान सीधे शहीद जवान के परिवार के अकाउंट में जाता है.


पढ़ें : 7वां वेतन आयोग : अर्धसैनिक बल के विकलांग जवानों के लिए मुआवजा राशि बढ़ाकर 20 लाख रुपये की गई

फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने दिया था आइडिया
अर्द्धसैनिक बलों के शहीदों के परिवार वालों की मदद के लिए फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार के शानदार आइडिया दिया था. बाद में केन्द्रीय बलों के जवानों के परिजनों को मोबाइल ऐप और वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन आर्थिक मदद पहुंचाने की सुविधा शुरू की गई. केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने 'भारत के वीर' वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप की शुरुआत की थी. अपने किस्म के इस अनूठे ऐप और वेबसाइट को देश में पहली बार शुरू किया गया था. दरअसल यह आइडिया अक्षय कुमार का ही था. इसके लिए गृह सचिव राजीव महर्षि ने उनको ख़ासतौर पर धन्यवाद दिया कि अक्षय ने हमे आकर यह आइडिया दिया था और उस पर अमलीजामा पहनाया गया. इसके ज़रिये दान दी गई राशि अर्द्धसैनिक बल के जवानों के परिजनों के खाते में जमा कर दी जाती है.

VIDEO : सीआरपीएफ देश का सबसे बड़ा अर्द्ध सैनिक बल

टिप्पणियां

दान देने वालों को सर्टिफिकेट
इस वेबसाइट और ऐप के ज़रिए कोई भी अपनी इच्छानुसार किसी भी शहीद की आर्थिक सहायता कर सकता है या फिर 'भारत के वीर' कोष में अपना दान दे सकता है. दान देने वालों को इसके लिए सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा. सहायता राशि जमा कराने की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपये तय की गई है. यह सीमा पूरी होते ही सबंधित शहीद के परिजनों की मदद का विकल्प वेबसाइट से अपने आप हट जाएगा. एक जवान को 15 लाख देने के बाद आप किसी दूसरे जवान के परिजनों की मदद कर सकते हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement