NDTV Khabar

CPM का बड़ा आरोप: महाराष्ट्र सरकार ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर और अन्य को हिरासत में लिया

माकपा ने शनिवार को महाराष्ट्र सरकार पर दमन करने का आरोप लगाया और दावा किया कि पुलिस ने पिछले दो दिनों में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद सहित कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है.

377 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
CPM का बड़ा आरोप: महाराष्ट्र सरकार ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर और अन्य को हिरासत में लिया

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

माकपा ने शनिवार को महाराष्ट्र सरकार पर दमन करने का आरोप लगाया और दावा किया कि पुलिस ने पिछले दो दिनों में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद सहित कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है. पार्टी के एक बयान में कहा गया है कि चंद्रशेखर आजाद को शुक्रवार को हिरासत में लेने के बाद जाति अंत संघर्ष समिति की प्रदेश कमेटी के सदस्य सुबोध मोरे और भीम आर्मी के नेता अशोक कांबले, सुनिल थोराट, महादु पवार तथा अन्य को शनिवार को हिरासत में ले लिया गया. बयान में आरोप लगाया गया है कि इन कार्यकर्ताओं के मोबाइल फोन अधिकारियों ने जब्त कर लिए. 

जेल से रिहा होने के बाद रावण बीमार, चिकित्सकों ने आराम की सलाह दी


माकपा और जाति अंत संघर्ष समिति ने एक बयान जारी कर हिरासत में लिए गए सभी लोगों को रिहा करने की मांग की है. साथ ही उन्होंने भीम आर्मी द्वारा अनुरोध की गई जनसभा की इजाजत भी मांगी है. इस बीच, राकांपा नेता जितेंद्र आव्हाड ने शनिवार को ट्वीट किया कि उन्होंने होटल में आजाद से मुलाकात की, जहां उन्हें कथित तौर पर रखा गया था. हालांकि, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आजाद सहित किसी कार्यकर्ता को हिरासत में नहीं लिया गया. 

चंद्रशेखर आजाद रावण ने कहा 'बुआ' तो मायावती का जवाब- मेरा कोई रिश्ता नहीं है

गौरतलब है कि जिले में एक जनवरी 2018 को कोरेगांव भीमा युद्ध स्मारक के समीप हुई हिंसा की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए पुलिस ने 1200 से अधिक लोगों के खिलाफ एहतियातन कार्रवाई की है. पुलिस ने बताया कि इस कार्रवाई में कुछ लोगों को क्षेत्र में प्रवेश करने से रोकना और कुछ अन्य को जिला बदर करना शामिल है. जिन लोगों को कोरेगांव भीमा एवं आसपास के क्षेत्रों में प्रवेश करने से रोका गया है उनमें दक्षिणपंथी हिन्दू नेता मिलिंद एकबोटे तथा वाम झुकाव वाले सांस्कृतिक समूह कबीर कला मंच के सदस्य शामिल हैं.    

एनडीटीवी युवाः भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण से क्या करेंगे मुलाकात, अखिलेश यादव का ये रहा जवाब

इस साल एक जनवरी को उस वक्त हिंसा भड़क उठी थी, जब दलित लोग ईस्ट इंडिया कंपनी के सैनिकों की पेशवा की सेना पर हुई जीत की 200वीं जयंती मनाने कोरेगांव भीमा गये थे. अंग्रेजों की सेना में दलित महार सैनिक भी शामिल थे. हिंसा की इस घटना में एक व्यक्ति की जान चली गई थी.

टिप्पणियां

 

VIDEO: मैं बाहर आ गया हूं, अब BJP को बताउंगा : NDTV से चंद्रशेखर आजाद रावण


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement