Bhima Koregaon Case : वरवर राव की रिहाई के लिए पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई गुहार

Bhima Koregaon Case :याचिकाकर्ता पत्नी का कहना है कि लगातार हिरासत राव के साथ क्रूरता और अमानवीय व्यवहार होगी, लिहाजा उन्हें तत्काल रिहा किया जाए. उन्हें कोविड संक्रमण का भी सामना करना पड़ा है.

Bhima Koregaon Case : वरवर राव की रिहाई के लिए पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई गुहार

वर वर राव की पत्नी ने याचिका में उनके खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली:

Bhima Koregaon Case : भीमा कोरेगांव हिंसा के मामले में गिरफ्तार पी वरवर राव की पत्नी ने रिहाई के लिए गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की. याचिकाकर्ता पत्नी का कहना है कि लगातार हिरासत राव के साथ क्रूरता और अमानवीय व्यवहार होगी, लिहाजा उन्हें तत्काल रिहा किया जाए.

यह भी पढ़ें- भीमा कोरेगांव मामले में पादरी की गिरफ्तारी के खिलाफ बनाई गई 3 किलोमीटर लंबी ह्यूमन चेन

उन्होंने कहा कि यह भारत के संविधान के अनुच्छेद 21 का उल्लंघन और उनकी गरिमा का उल्लंघन होगा. याचिका में कहा गया है कि वरवर राव को कई बीमारियां हैं. COVID-19 के समय उनको जेल में रखना ठीक नहीं है. याचिका में कहा गया है कि उनके स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए तुरंत जमानत पर रिहा किया जाए. भीमा कोरेगांव मामले में राव को 28 अगस्त 2018 को गिरफ्तार किया गया था.

Newsbeep

यह भी पढ़ें-   83 वर्षीय मानवाधिकार कार्यकर्ता फादर स्टेन स्वामी 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


परिजनों ने बेहद दयनीय हालत में पाया था
याचिका में यह भी कहा गया है कि जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था तो उन्हें न्यूरो की कोई समस्या नहीं थी.संभावना है कि COVID-19 के चलते और सेंट जॉर्ज अस्पताल में जो असर हुआ, उससे न्यूरोलॉजिकल समस्याएं पैदा हुई हैं. नानावती अस्पताल की मेडिकल रिपोर्ट से इसका पता चलता है. याचिकाकर्ता और दो बेटियां अपने भाई के साथ मुंबई पहुंची थीं और उन्हें जे.जे. अस्पताल में दयनीय स्थिति में पाया गया. उन्हें COVID  संक्रमण भी हुआ था.