NDTV Khabar

भोपाल गैंगरेप मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में गड़बड़ी, एक को छोड़ा

भोपाल में 19 वर्षीय लड़की के साथ हुए गैंगरेप मामले में पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को भी पकड़ लिया था जो घटना के दिन भोपाल में था ही नहीं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भोपाल गैंगरेप मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में गड़बड़ी, एक को छोड़ा

भोपाल में पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

खास बातें

  1. तीन गिरफ्तार, राजेश राजपूत को पुलिस ने छोड़ दिया
  2. वारदात के दिन इंदौर गया था राजेश राजपूत
  3. सीसीटीवी फुटेज से पुष्टि होने पर छोड़ा गया
भोपाल:

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 19 साल की छात्रा से कथित तौर पर गैंगरेप के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में गंभीर गड़बड़ी सामने आई है. पुलिस ने पहले चारों आरोपियों को पकड़ने का दावा किया था, खुद जीआरपी एसपी ने इस बात की पुष्टि की थी लेकिन शनिवार की शाम को आईजी लॉ एंड ऑर्डर मिलिंद देउस्कर ने कहा पहले जिन चार लोगों को हिरासत में लिया गया था उनसे पूछताछ के बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया. चौथे को जाने दिया गया.

सूत्रों के मुताबिक पकड़े गए तीनों बदमाशों ने अपने चौथे साथी का नाम राजू उर्फ राजेश बताया था जबकि राजेश राजपूत के परिवार का कहना है कि वह उस दिन इंदौर गया था. एएसपी जीआरपी धर्मेंद्र सिंह ने कहा इंदौर रोड पर टोल नाके के फुटेज को देखकर राजेश को जाने दिया गया. बताया जा रहा है कि राजेश राजपूत घटना के दिन शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष किशोर चौकसे को नलखेड़ा लेकर गया था. वह रात डेढ़ बजे भोपाल पहुंचा था. टोल टैक्स के सीसीटीवी कैमरे में भी उसकी तस्वीरें कैद हुईं. राजेश के घरवालों का आरोप है कि पुलिस ने थाने में उसे बुरी तरह पीटा.

टिप्पणियां

VIDEO : लापरवाही बरतने वाले पांच सस्पेंड


भोपाल में चार युवकों ने यूपीएससी की कोचिंग कर लौट रही एक छात्रा के साथ हैवानियत की. इसके बाद जब पीड़िता एफआईआर दर्ज कराने गई तो सीमा विवाद के चक्कर में पुलिस ने 24 घंटे तक पीड़ित लड़की की शिकायत दर्ज नहीं की. बाद में गिरफ्तारी के बाद छात्रा से गैंगरेप मामले में पुलिस की लापरवाही की परतें खुलती जा रही हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement