NDTV Khabar

पहली तिमाही में विकास दर गिरकर 5.7%, तीन साल के निचले स्तर पर

चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान जीडीपी की वृद्धि दर तीन साल के निचला स्तर पर पहुंच गई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पहली तिमाही में विकास दर गिरकर 5.7%, तीन साल के निचले स्तर पर

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. 8 कोर सेक्टर में विकास दर घटकर 2.4% हुई
  2. वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान इसकी वृद्धि दर 6.1 फीसदी थी
  3. लगातार तीसरी तिमाही में नोटबंदी का असर दिखाई दिया
नई दिल्ली: चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की गई और यह वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही के 6.1 फीसदी से घटकर 5.7 फीसदी पर आ गई. यह इसका तीन साल का निचला स्तर है. आधिकारिक आंकड़ों से गुरुवार को यह जानकारी मिली. इसी बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जीडीपी में गिरावट चिंता की बात है. उम्मीद है कि अगली तिमाही में दर बेहतर होगी.

टिप्पणियां
केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी 5.7 फीसदी की वृद्धि दर के साथ 31.10 लाख करोड़ रुपये रही, जबकि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान इसकी वृद्धि दर 6.1 फीसदी थी. विनिर्माण गतिविधियों में सुस्ती के बीच लगातार तीसरी तिमाही में नोटबंदी का असर दिखाई दिया.

VIDEO : क्या है जीडीपी और कैसे लगाया जाता है इसका हिसाब?

अगर हम जीडीपी की वृद्धि दर की तुलना एक साल पहले की समान तिमाही से करें तो इसमें काफी अधिक गिरावट दर्ज की गई है. वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही के दौरान जीडीपी की रफ्तार 7.9 फीसदी थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement