बिहार चुनाव: जनसभा में तेजस्वी यादव पर फेंकी गई चप्पल, घटना कैमरे में कैद

Bihar Election 2020: औरंगाबाद के कुटुम्बा विधानसभा क्षेत्र के बभंडी में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर फेंकी गई दो चप्पलों में से एक उनके बगल से गुजरी और दूसरी उनकी गोद में गिरी

पटना:

Bihar Election 2020: बिहार के औरंगाबाद (Aurangabad)  के कुटुम्बा विधानसभा क्षेत्र के बभंडी में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) पर चुनावी सभा (Election Rally) को संबोधित करने के पहले चप्पल फेंकी गई. उन पर भीड़ में से किसी ने चप्पल फेंकी. हालांकि यह पता नहीं चला कि मंच पर चप्पल किधर से आई और किसने फेंकी. तेजस्वी पर एक के बाद एक दो चप्पलें फेंकी गई जिसमें से एक चप्पल तेजस्वी के बगल से गुजर कर पीछे जा गिरी जबकि दूसरी चप्पल तेजस्वी के गोद में जा गिरी. हालांकि तेजस्वी ने इसे कोई तवज्जो नहीं दी और भाषण में भी इस पर कुछ नहीं कहा. भाषण देकर वे वापस रवाना हो गए.

बिहार के विपक्ष के नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी तेजस्वी यादव को मंगलवार को पटना से करीब 125 किलोमीटर दूर औरंगाबाद के कुटुम्बा विधानसभा क्षेत्र में अचानक अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा. तेजस्वी यादव इस विधानसभा क्षेत्र के राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवार के प्रचार के लिए आयोजित चुनावी रैली में पहुंचे. वे मंच पर जाकर बैठे और पार्टी के नेताओं से बात करने लगे. 

इससे पहले कि तेजस्वी यादव भाषण के लिए उठते, मंच के सामने से उन पर चप्पल फेंकी गई. उन पर एक के बाद एक दो चप्पलें फेंकी गई जिसमें से एक उनके बगल से गुजरकर पीछे गिरी और दूसरी उनकी गोद में गिरी. यह सारी घटना कैमरों में कैद हो गई. यह पता नहीं चल सका कि किसने उन पर चप्पल फेंकी.

सूत्रों ने बताया कि तिपहिये पर बैठे एक दिव्यांग व्यक्ति ने चप्पल फेंकी थी जिसे लोगों और सुरक्षा बलों ने पकड़ लिया.
राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने घटना की निंदा करते हुए नेताओं की पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की.

बहरहाल, तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा है कि विधानसभा चुनाव के बाद बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी तो वे पहले कैबिनेट में ही राज्य के 10 लाख बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने का मार्ग प्रशस्त करेंगे. उन्होंने दावा किया कि राज्य में लाखों पद खाली पड़े हैं और लेकिन नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार ने यहां के बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के लिए कोई पहल नहीं की. उन्होंने कहा कि हमने अपने घोषणापत्र में राज्य के 10 लाख बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने की घोषणा की है जिसे हर हाल में हम पूरा करेंगे.

महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि राज्य की एनडीए सरकार विकास का ढिंढोरा पीट रही है लेकिन ऐसी कोई बात नहीं है और गांव की बात तो दूर शहर भी बदहाल है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में महागठबंधन की सरकार .बनी तो नियोजित शिक्षकों को समान काम के लिए समान वेतन दिया जाएगा. तेजस्वी ने दावा किया कि इस विधानसभा चुनाव में पूरे राज्य में महागठबंधन की लहर चल रही है और 10 नवंबर को हमारी सरकार बनने का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा. 

इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी प्रमुख लालू यादव के जेल में होने से पार्टी के चुनाव प्रचार का जिम्मा तेजस्वी यादव पर है. भ्रष्टाचार के मामले में सजा होने पर लालू यादव सन 2017 से जेल में हैं.  

Newsbeep

नीतीश ने तेजस्वी से पूछा- नौकरी दीजिएगा तो तनख्वाह का पैसा जेल से आएगा, या नकली नोट छापिएगा?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तेजस्वी यादव के बिहार में बड़ी संख्या में नौकरियां देने के वादे को लेकर आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनको निशाना बनाया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि पैसा कहां से लाओगे, जिस कारण से जेल गए हो. क्योंकि राज्य में तो पैसा नहीं होगा. फिर उन्होंने कहा कि करोगे तो पैसा कहां से आएगा? ऊपर से आएगा? कहां से आएगा, या नकली नोट मिलेगा, या जेल से आएगा?