बिहार चुनाव : सीएम नीतीश कुमार की रफीगंज की जनसभा में हुआ हंगामा

Bihar Election 2020: नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव को निशाना बनाया, कहा- बिना ज्ञान के नौकरियां देने का वादा करने वाले कहीं अपना धंधा न चालू कर दें

बिहार चुनाव : सीएम नीतीश कुमार की रफीगंज की जनसभा में हुआ हंगामा

2020 Bihar Assembly Election: रफीगंज में नीतीश कुमार की जनसभा में चिल्लाता हुआ एक व्यक्ति.

पटना:

Bihar Election 2020: बिहार के औरंगाबाद (Aurangabad) के रफीगंज (Rafiganj) में आज मुख्यंमत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की चुनावी सभा (Election Rally) में उस वक्त हंगामा हो गया जब एक व्यक्ति ने खड़े होकर सीएम नीतीश कुमार को कुछ कागजात देने चाहे. जेडीयू (JDU) के समर्थक उसे कुछ बोलने नहीं दे रहे थे. अचानक वह व्यक्ति जोर जोर से चिल्लाने लगा और मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग भी करने लगा. इस दौरान नीतीश कुमार सभा को संबोधित कर रहे थे. बाद में नीतीश कुमार ने हस्तक्षेप किया और पुलिस कर्मियों से संयमित रहकर उससे कागजात ले लेने की बात कही. उन्होंने मीडिया को भी उस व्यक्ति से बात कर लेने की सलाह दी.  

रफीगंज में हुई सभा में नीतीश कुमार ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियां देने के वादे पर तंज करते हुए कहा कि कुछ लोग बिना ज्ञान के ही नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं, लेकिन कहीं ऐसा न हो कि नौकरी देने के नाम पर अपना अलग ही काम धंधा चालू कर दें. नीतीश ने कहा, ‘‘कुछ लोगों को कोई ज्ञान नहीं है और दावा कर रहे हैं कि इनती नौकरियां देंगे. पैसा कहां से आएगा ? '' उन्होंने कहा, ‘‘कहीं ऐसा न हो कि नौकरी देने के नाम पर अपना अलग ही काम धंधा चालू कर लें. कहने से कुछ होता है जी, करने का कुछ अनुभव हो, कुछ समझ हो तब ना.''

नीतीश कुमार ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि 15 साल में जब मौका मिला था तब कितने लोगों को नौकरियां दी थीं? उन्होंने कहा, ‘‘हमने तो छह लाख से अधिक लोगों को नौकरियां दीं और काफी संख्या में लोगों को काम का अवसर दिया.''

गौरतलब है कि विपक्षी महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने कहा है कि उनकी सरकार बनते ही कैबिनेट की पहली बैठक में युवाओं को 10 लाख रोजगार देने पर मुहर लगेगी.

लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए नीतीश ने कहा, ‘‘15 साल में महिलाओं के लिए क्या किया? पति जेल में गए तो पत्नी को बैठा दिया, लेकिन महिलाओं के लिए क्या किया?'' कुमार ने कहा, ‘‘हमें मौका मिला तो हमने आरक्षण दिया. महिलाएं जनप्रतिनिधि बनीं.''

राजद की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कानून एवं व्यवस्था की स्थिति का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बिहार में चल रहे अपहरण उद्योग के चलते काफी व्यापारी और डॉक्टर बिहार छोड़ के भाग गए थे और दो पैसा कमाने के लिए लोग राज्य छोड़ने पर मजबूर हो गए थे. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के आते ही सब बदल गया, सबके विकास के लिए कार्य किये गए, सबको सुरक्षा मिली. राजद की पूर्ववर्ती सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पहले न सड़क थी, न बिजली थी और जंगलराज था. उन्होंने कहा, ‘‘आज हर घर में बिजली है, हर गांव तक सड़क है और बिहार में कानून का राज है.'' नीतीश ने कहा, ‘‘हमने शुरू में ही साफ कर दिया था कि हम अपराध, भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिकता को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे.''

बिहार चुनाव : तेजस्वी यादव की CM नीतीश कुमार को चुनौती- किसी भी एक उपलब्धि पर कर लें बहस 

Newsbeep

कोरोना वायरस से मुकाबला करने के सरकार के प्रयासों का जिक्र करते हुए नीतीश ने कहा कि कोरोना को लेकर थोड़ी परिस्थितियां अलग हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में उसके प्रसार की रोकथाम के लिए कठिन से कठिन कार्य हुए हैं तथा जांच के मामले में तो राज्य अभी देश में भी आगे चल रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्य में राजग की फिर से सरकार बनने पर किये जाने वाले कार्यों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमने तय कर लिया है कि इस बार मौका दीजियेगा तो हर खेत तक सिंचाई के लिये पानी पहुंचा देंगे. कहीं भी सूखा नहीं रहने देंगे. हर घर बिजली तो पहुंच गयी है, अब हर गांव में सोलर लाइट लगाएंगे.
(इनपुट भाषा से भी)