नीतीश कुमार ने क्यों कहा- देखो बंधु, पता नहीं कहां से नौकरी, ऐसे ही कह रहा है

Bihar Election 2020: नीतीश कुमार ने भागलपुर जिले के गोपालपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित किया, कहा- हम लोगों की सेवा करते रहे, कुछ लोगों के लिए सेवा से मतलब नहीं है, वे सिर्फ़ परिवार के बारे में सोचते हैं

नीतीश कुमार ने क्यों कहा- देखो बंधु, पता नहीं कहां से नौकरी, ऐसे ही कह रहा है

Bihar Assembly Election 2020: चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार.

पटना:

Bihar Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) के आखिरी के दो चरणों के चुनाव के लिए प्रचार के मात्र पांच दिन बचे हैं. नौकरी के मुद्दे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अब खुलकर बोल रहे हैं. वे आश्वासन तो नहीं देते लेकिन शनिवार को एक चुनावी सभा में उन्होंने लोगों से कहा कि देखो बंधु, कहां से नौकरी, ऐसे ही कह रहा है.

नीतीश कुमार ने भागलपुर जिले के गोपालपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि जो काम हम लोग करते रहे हैं हम आप लोगों से यही कहने आए हैं कि हम तो आप लोगों की सेवा करते रहे. कुछ लोगों के लिए सेवा से मतलब नहीं है, वे सिर्फ़ परिवार के बारे में सोचते हैं, पति, पत्नी, बेटा, बेटी... और हमारे लिए पूरा बिहार एक परिवार है. उन्होंने कहा कि हम पूरे बिहार को एक परिवार मानकर सेवा करते चलते हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि देखो बंधु इतने दिन काम करने का मौक़ा मिला, हम लोग करते चले जा रहे हैं. आगे और काम करने का मौक़ा दीजिए. हम लोगों के काम से लगता है कि काम हो रहा है. बहुत लोगों को तो ना काम करने का  अनुभव है, ना उनके बारे में कोई जानकारी है. वे केवल बोलते रहते हैं. इन सभी बातों पर सोचने की कोई ज़रूरत नहीं है.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उसके बाद नौकरी के वादे की चर्चा करते हुए नीतीश ने कहा कि किसी को पता ही नहीं है कि काम कैसे होता है. कुछ मालूम नहीं है, कहां से नौकरी, ऐसे ही कह रहा है. जब राजपाट था और दस साल.. बिहार, झारखंड एक था, केवल 95, हज़ार लोगों को नौकरी दिया. हम लोगों ने इतने दिनों में छह लाख से अधिक लोगों को रोज़गार दिया.