BJP ने कहा, शाम तक तय करेंगे नेतृत्व - क्या यह नीतीश कुमार के लिए चेतावनी है?

बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने NDTV से कहा कि 'मोदीजी की छवि ने हमें इस चुनाव में आगे बढ़ाया है. हम शाम तक सरकार गठन और नेतृत्व पर फैसला लेंगे.'उनके इस बयान से ऐसा प्रतीत होता है कि बीजेपी राज्य में मुख्यमंत्री के नए चेहरे पर विचार कर सकती है.

BJP ने कहा, शाम तक तय करेंगे नेतृत्व - क्या यह नीतीश कुमार के लिए चेतावनी है?

Bihar Election Results: क्या नीतीश कुमार ही होंगे बिहार के अगले मुख्यमंत्री (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

Bihar Assembly Election Results : बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने लगे हैं. दोपहर 12 बजे तक के रुझानों में एनडीए (NDA Early Trends) को अच्छी बढ़त मिलती दिख रही है. हालांकि, बिहार में एक बार फिर मुख्यमंत्री बनने का नीतीश कुमार (Nitish Kumar) का सपना इस बार पूरी तरह से उनकी सहयोगी पार्टी बीजेपी के भरोसे पर रह गया है. सुबह 11.30 बजे तक के रुझानों के मुताबिक, बीजेपी को बिहार में सबसे ज्यादा सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं.

खुद नीतीश कुमार की परफॉर्मेंस अपेक्षा के मुताबिक खराब रही है और पहली बार ऐसा हो रहा है कि वो पीएम मोदी की पार्टी के साथ गठबंधन के जूनियर पार्टनर बनते दिख रहे हैं. हालांकि, नीतीश कुमार के करीबी नेताओं का कहना है कि 'ब्रांड नीतीश' अभी धूमिल नहीं पड़ा है, लेकिन उनका यह मानना है कि इस बार एंटी-इन्कंबेंसी नीतीश का खेल बिगाड़ सकती है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने NDTV से कहा कि 'मोदीजी की छवि ने हमें इस चुनाव में आगे बढ़ाया है. हम शाम तक सरकार गठन और नेतृत्व पर फैसला लेंगे.'उनके इस बयान से ऐसा प्रतीत होता है कि बीजेपी राज्य में मुख्यमंत्री के नए चेहरे पर विचार कर सकती है. जब उनसे इस इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चुनावी रुझान के हिसाब से नतीजे आते हैं तो बीजेपी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने के 'वादे को निभाएगी'.

यह भी पढ़ें: अगर तेजस्वी जीते, तो होंगे किसी भी राज्य के सबसे युवा CM, बनाएंगे तीन रिकॉर्ड

Newsbeep

इधर, नीतीश कुमार की टीम ने चुनावों में जेडीयू के खराब प्रदर्शन के पीछ कोविड और चिराग पासवान को जिम्मेदार ठहराया है. 38 साल के चिराग, जो केंद्र में बीजेपी के सहयोगी हैं, ने बिहार में पूरे कैंपेन के दौरान नीतीश कुमार को निशाना बनाए रखा है. इसपर जेडीयू के प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि 'बीजेपी को चिराग पासवान को शुरू से ही अलग-थलग करना चाहिए था, उनपर शुरू से नियंत्रण किया जाना चाहिए था.' पार्टी का मानना है कि चिराग पासवान ने नीतीश के वोट बैंक में सेंध लगाई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिलचस्प है कि बीजेपी के आलोचकों और नीतीश कुमार व उनके सहयोगियों का पूर्वानुमान था कि चिराग पासवान को बीजेपी ने ही बगावत करने को कहा था, या फिर कम से कम, उन्हें बीजेपी से इसकी अनुमति मिली थी, ताकि नीतीश का दायरा छोटा किया जा सके. ऐसा होने की स्थिति में पुराने सहयोगी के भविष्य का फैसला बीजेपी के हाथों में आ जाएगा.