बिहार में नीतीश कुमार परिवारवाद के खिलाफ और अपने काम के बलबूते लड़ेंगे चुनाव

Bihar Election 2020: नीतीश ने परिवारवाद को मुद्दा बनाया, कहा- कुछ लोगों के लिए अपने बेटा, बेटी से ऊपर कुछ नहीं होता, लेकिन मेरे लिए बिहार का हर व्यक्ति परिवार का सदस्य

बिहार में नीतीश कुमार परिवारवाद के खिलाफ और अपने काम के बलबूते लड़ेंगे चुनाव

2020 Bihar Assembly Election: नीतीश कुमार बिहार के चुनाव में परिवारवाद को मुद्दा बनाकर आरजेडी को घेरेंगे (फाइल फोटो).

पटना:

Bihar Assembly Election: बिहार के मुख्यमंत्री और आगामी चुनाव में एक बार फिर एनडीए के इस पद के लिए उम्मीदवार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राज्य में पंद्रह वर्षों के अपने शासन और परिवारवाद के मुद्दे पर जनता से वोट मांगेंगे. नीतीश ने मंगलवार को साफ़-साफ़ कहा कि जनता को सब मालूम है, किसने काम किया. उन्होंने परिवारवाद को भी मुद्दा बनाते हुए कहा कि कुछ लोगों के लिए अपने बेटा, बेटी से ऊपर कुछ नहीं होता, लेकिन मेरे लिए बिहार (Bihar) का हर व्यक्ति परिवार का सदस्य है.

नीतीश कुमार मंगलवार को अपने इस टर्म के आखिरी शिलान्यास, उद्घाटन कार्यक्रम में बोल रहे थे. यह कई विभागों का कार्यक्रम था जो कि एक साथ आयोजित किया गया था. नीतीश ने कहा कि बिहार विकसित राज्य बनेगा और ये हम सब लोगों का संकल्प है, निश्चय है. इसलिए बिहार के लोगों ने अब तक हम लोगों को जो काम करने का मौका दिया इसके लिए उनको भी हृदय से धन्यवाद देते हैं. आज तक जितना काम हो गया, मौका दिया, सब काम कर दिया. नीतीश के अनुसार आगे जनता मालिक है और आगे मौका देगी तो हम लोग आगे काम करते रहेंगे. ये तो जनता के ऊपर निर्भर करता है, जानते हैं.

नीतीश ने तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना कहा कि हर बार लोग जाने क्या-क्या प्रचार करते हैं. जनता की मानसिकता क्या होती है, जनता को पाटने के चक्कर में रहते हैं. कुछ लोग भ्रम पैदा करने के चक्कर में लगे रहते हैं. लेकिन ऐसा होता नहीं है. उन्होंने कहा कि आजकल सोशल मीडिया पर लोग ट्वीट कर करके तरह-तरह की बात करते हैं. उन्होंने तेजस्वी यादव की तरफ इशारा करते हुए कहा कि एक आदमी का दिखा एक ट्वीट, कैसे तरह-तरह की बात करते हैं. अपना समय भूल गए, 1990 से  2005 तक जो मौक़ा मिला, क्या कर पाए. नीतीश ने कहा कि आज जब हम लोगों को मौक़ा मिला तो हम लोगों ने क्या किया है. जो काम किया है, वो जनता कभी बोलती है, जनता को सब मालूम है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नीतीश कुमार कृषि बिल के समर्थन में भाजपा के साथ क्यों खड़े हैं?

नीतीश ने आख़िरी में कहा कि हम लोग लोक सेवक हैं, सेवा करते हैं, काम करते हैं. हम लोग कोई परिवारवाद वाले नहीं हैं. हमारे लिए पूरे बिहार के लोग परिवार के अंग हैं. परिवार के सदस्य हैं. कुछ लोग परिवारवाद तक सीमित हैं. परिवार, बेटा-बेटी, यही परिवार है, इसके अलावा कोई नहीं है. जो इनकी पार्टी में होते हैं उनकी भी कोई इज़्ज़त नहीं. हम लोगों के लिए पूरा बिहार एक परिवार है और हम सब एक परिवार के सदस्य हैं. पूरे बिहार के लोगों का ध्यान रखते हैं. पूरे बिहार में किसी भी इलाक़े की हमने उपेक्षा नहीं की. न्याय के साथ विकास किया. हर इलाके का विकास और हर तबके का विकास. उन्होंने कहा कि हम लोगों का काम है कि लोगों की खिदमत करें. लोगों ने अब तक मौक़ा दिया है, इन सब लोगों की हम सेवा करें. सेवा करते हैं, सेवा हमारा धर्म है. सबकी खिदमत करते हैं, सबकी सेवा करते हैं. आपस में प्रेम, सद्भावना , भाईचारे के वातावरण में ही बिहार आगे बढ़ रहा है. केंद्र की भी जो सहायता मिल रही है. सबको लेकर बिहार अपने बल पर आप सब लोगों के बल पर अब आगे बढ़ रहा है.