NDTV Khabar

बिहार के CM नीतीश कुमार फिर से जद(यू) के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए

रविवार को नामांकन वापस लेने का समय समाप्त होने के बाद उन्हें पार्टी का अध्यक्ष घोषित कर दिया गया. सीएम नीतीश कुमार की ओर से पार्टी के नेताओं के समूहों ने नामांकन पत्र के चार सेट दाखिल किए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के CM नीतीश कुमार फिर से जद(यू) के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

खास बातें

  1. इस पद के लिए नीतीश एकमात्र उम्मीदवार थे नीतीश कुमार
  2. रविवार को नामांकन वापस लेने का समय हो गया था समाप्त
  3. पार्टी के नेताओं के एक समूहों ने दाखिल किए थे नामांकन पत्र के चार सेट
नई दिल्ली:

बिहार के सीएम नीतीश कुमार को एक और कार्यकाल के लिए जद(यू) का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया है. उनकी पार्टी ने रविवार को यह घोषणा की. जनता दल यूनाइटेड (जद यू)) के राष्ट्रीय निर्वाचन अधिकारी अनिल हेगड़े ने बताया कि इस पद के लिए नीतीश एकमात्र उम्मीदवार थे और रविवार को नामांकन वापस लेने का समय समाप्त होने के बाद उन्हें पार्टी का अध्यक्ष घोषित कर दिया गया. सीएम नीतीश कुमार की ओर से पार्टी के नेताओं के समूहों ने नामांकन पत्र के चार सेट दाखिल किए थे.

जल जमाव को लेकर 'अपनों' के निशाने पर आए नीतीश को मिला सुशील मोदी का साथ, आलोचकों को यूं दिया जवाब...

बता दें कि ऐसे वक्त में जब भाजपा के साथ जद (यू) का गठबंधन असहज दौर से गुजर रहा है, पार्टी के अविवादित नेता के तौर पर नीतीश राज्य में 21 अक्टूबर को होने वाले उपचुनावों और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जद (यू) का नेतृत्व करेंगे. वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह सहित भाजपा के कई नेताओं ने राज्य में, खासतौर पर पटना में आई हालिया बाढ़ से निपटने में सरकार की अक्षमता सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर उनके नेतृत्व की आलोचना है. इसके अलावा भाजपा के एक अन्य नेता एवं विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) संजय पासवान ने यह मांग की है कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद के लिए अब भगवा पार्टी के किसी नेता का मार्ग प्रशस्त करें.


NDA से JDU के मनमुटाव की खबरों के बीच, तेजस्वी यादव ने कहा-नीतीश के लिये गठबंधन के दरवाजे...

टिप्पणियां

वहीं राजनीतिक विश्लेषक इस हालिया घटनाक्रम को भारी जनादेश के साथ केंद्र की सत्ता में आने के बाद भाजपा द्वारा राजग के अन्य घटक दलों पर अपनी सर्वोच्चता स्थापित करने की कोशिश के तौर पर देख रहे हैं. दूसरी ओर जद (यू) का मानना है कि नीतीश कुमार राजग के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता बने हुए हैं और वह भाजपा के लिए कोई गुंजाइश छोड़ने को इच्छुक नहीं हैं.

बिहार में डेंगू के 775 से ज्यादा मरीज भर्ती



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement