JDU नेता पवन वर्मा ने CAA-NRC पर मांगी थी नीतीश कुमार से सफाई, तो बिहार CM बोले- जिसको जहां जाना है, जाएं

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के गठबंधन को लेकर JDU के वरिष्ठ नेता पवन कुमार वर्मा (Pawan Kumar Verma) ने सवाल उठाए थे.

JDU नेता पवन वर्मा ने CAA-NRC पर मांगी थी नीतीश कुमार से सफाई, तो बिहार CM बोले- जिसको जहां जाना है, जाएं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पवन वर्मा को लेकर यह बयान दिया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पवन वर्मा ने JDU-BJP गठबंधन पर किए सवाल
  • बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिया जवाब
  • कहा- पवन वर्मा को जहां जाना है, जा सकते हैं
पटना:

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के गठबंधन को लेकर JDU के वरिष्ठ नेता पवन कुमार वर्मा (Pawan Kumar Verma) ने सवाल उठाए थे. उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि देशभर में नागरिकता कानून (CAA) को लेकर बीजेपी का विरोध हो रहा है. JDU भी CAA और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) का विरोध कर रही है लेकिन वहीं उनकी पार्टी ने दिल्ली चुनाव में BJP के साथ गठबंधन कर लिया. जिसके बाद पार्टी प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने कहा है कि जिनको जहां जाना है, वह जा सकता है. उनका मतलब था कि अगर उन्हें (पवन वर्मा) कोई दूसरी पार्टी जॉइन करनी है तो वह जा सकते हैं. गुरुवार को सीएम ने मीडिया से बात करते हुए यह बयान दिया है.

Citizenship Amendment Act: क्या है नागरिकता संशोधन कानून? जानिए इसके बारे में सब कुछ

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, 'कुछ लोगों के बयान से जनता दल यूनाइटेड को जोड़कर मत देखिए. JDU जनता के साथ अपना काम करती है. कुछ चीजों पर हम लोगों का स्टैंड साफ होता है. एक चीज के बारे में कोई कंफ्यूजन में नहीं रहना चाहिए. अगर किसी के दिल में कोई बात है तो आकर बातचीत करनी चाहिए. बातचीत जरूर करनी चाहिए. जरूरी समझें तो पार्टी की बैठक में करनी चाहिए. ऐसा बयान देना, ये आश्चर्य की बात है कि हमसे क्या बात करते थे. अब हम कहेंगे कि क्या बात करते. ये कोई तरीका है. इन बातों को छोड़ दीजिए. जहां उनको अच्छा लगे, वो (पवन वर्मा) वहां जा सकते हैं. मेरी शुभकामनाएं हैं.'

बताते चलें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में JDU और BJP गठबंधन से नाखुश पवन वर्मा ने इस फैसले को लेकर CM नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी थी. पत्र में उन्होंने बीजेपी, नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर देशभर में गुस्से के माहौल पर अपनी राय रखी. दरअसल पवन वर्मा ने पार्टी की विचारधारा के आधार पर नीतीश कुमार से सफाई मांगी. उन्होंने चिट्ठी में नीतीश कुमार से साल 2017 के बाद हुई एक निजी बातचीत का भी जिक्र किया है, जिसमें उन्होंने दावा किया कि किस तरह से नीतीश कुमार ने बीजेपी को लेकर आशंका जताई है. पवन कुमार ने लिखा, 'आपने कहा था कि किस तरह से बीजेपी के वर्तमान नेतृत्व ने उन्हें अपमानित किया है और आपने कहा कि बीजेपी भारत को एक खतरनाक जगह लेकर जा रही है, संस्थानों को खत्म कर रही है. अब जरूरत है कि एक लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष ताकत का गठन किया जाए. यहां तक कि पार्टी के एक वरिष्ठ नेता को भी ये जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी'.

Newsbeep

प्रशांत किशोर की BJP पर बयानबाजी के बीच नीतीश कुमार ने कहा, 'सब ठीक है'​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com