बिहार चुनाव में घमासान : LJP का बयान - NDA गठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो...

Bihar Election: बिहार में सीटों के बंटवारे पर लोक जनशक्ति पार्टी ने अपने तेवर कड़े कर लिए हैं. मंगलवार को चिराग पासवान (Chirag Paswan) के पार्टी ने साफ़ कर दिया कि अगर उसे एनडीए गठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो पार्टी 143 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और चिराग पासवान मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे.

बिहार चुनाव में घमासान : LJP का बयान - NDA गठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो...

चिराग पासवान (Chirag Paswan) अपने पिता रामविलास पासवान के साथ - फाइल फोटो

पटना:

Bihar Election: बिहार में सीटों के बंटवारे पर लोक जनशक्ति पार्टी ने अपने तेवर कड़े कर लिए हैं. मंगलवार को चिराग पासवान (Chirag Paswan) के पार्टी ने साफ़ कर दिया कि अगर उसे एनडीए गठबंधन में सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो पार्टी 143 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और चिराग पासवान मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे.

बिहार चुनाव : कहीं बात बनती न देख तीसरा मोर्चा ले आए उपेंद्र कुशवाहा, तेजस्वी यादव से थी नाखुशी

लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सराफ ने NDTV से कहा, "लोक जनशक्ति पार्टी के कार्यकर्ताओं की डिमांड है कि पार्टी बिहार चुनाव में 143 सीटों पर चुनाव लड़े. हमने इस बारे में अंतिम फैसला अपने लीडर और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान पर छोड़ दिया है. अगर चिराग पासवान 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं तो चिराग लोजपा की तरफ से चीफ मिनिस्टर पद के उम्मीदवार होंगे."

खबर है की बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से सोमवार को मुलाकात के दौरान चिराग पासवान ने 42 सीटों की मांग की. सूत्रों के मुताबिक बीजेपी ने फिलहाल लोजपा को 27 सीटें और 2 MLC सीट देने की पेशकश की है. उधर जेडीयू ने साफ़ कर दिया है की लोजपा अगर 143 सीटों पर आपने उमीदवार उतरती भी है तो इसका पार्टी पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

बिहार चुनाव 2020 : सीट बंटवारे पर घमासान के बीच जेपी नड्डा से मिले चिराग पासवान, दिया अल्टीमेटम : सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने NDTV से कहा, "लोक जनशक्ति पार्टी के साथ जनता दल यूनाइटेड ने कभी साथ चुनाव नहीं लड़ा है. लोक जनशक्ति पार्टी 2000, 2005, 2010 और 2015 में जनता दल यूनाइटेड के उम्मीदवारों के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारती रही है. लोक जनशक्ति पार्टी के निर्णय से और संकेतों से हम अप्रभावित हैं.''

साफ़ है कि सीटों के लिए इस खींचतान के बीच अगले 24 घंटे एनडीए में सीट शेयरिंग फार्मूला का स्वरुप तय करने के लिए निर्णायक हो सकते हैं. बिहार चुनावों के लिए सीट शेयरिंग को लेकर घमासान तेज हो रहा है. हर पार्टी की अपनी महत्वकांक्षा है, एक दूसरे पर दबाव बनाने की अपनी रणनीति है. नामांकन की प्रक्रिया जल्दी ही शुरू होने वाली है. ऐसे में अगले 24 घंटे में बिहार चुनाव की बड़ी तस्वीर सामने आ सकती है कि किस गठबंधन में कौन किसके साथ चुनाव लड़ेगा?