Bihar Electionst : JDU नेता केसी त्‍यागी का दावा, 'LJP प्रत्‍याशी चुनाव नहीं लड़ते तो तेजस्‍वी, तेजप्रताप दोनों हार जाते'

केसी त्‍यागी ने कहा कि इन नतीजों से साफ है कि ब्रांड नीतीश कुमार कमजोर नहीं हुआ है और सत्‍ताविरोधी रुझान (Anti-Incumbency) इन चुनावों में कोई फैक्टर नहीं था.

Bihar Electionst : JDU नेता केसी त्‍यागी का दावा, 'LJP प्रत्‍याशी चुनाव नहीं लड़ते तो तेजस्‍वी, तेजप्रताप दोनों हार जाते'

केसी त्‍यागी ने कहा, नतीजों से साफ है कि ब्रांड नीतीश कुमार कमजोर नहीं हुआ है

खास बातें

  • कहा, ब्रांड नीतीश कुमार कमजोर नहीं हुआ है
  • एंटी इनकमबेंसी इन चुनाव में नहीं था कोई फैक्‍टर
  • NDA को महिलाओं और OBC के वोट नीतीश के कारण‍ मिले
नई दिल्ली:

Bihar Assembly elections Result 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने चिराग पासवान और उनकी लोकशक्ति पार्टी (LJP) पर निशाना साधा है. जेडीयू के महासचिव केसी त्‍यागी (KC Tyagi) ने NDTV से बातचीत में कहा, चुनाव के नतीजे बताते हैं कि अगर लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार चुनाव नहीं लड़ते तो तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव, दोनों इन चुनावों में हार जाते और जेडीयू को 83 सीटें मिली होती और आज सबसे बड़ी पार्टी होती. त्‍यागी ने कहा कि इन नतीजों से साफ है कि ब्रांड नीतीश कुमार कमजोर नहीं हुआ है और सत्‍ताविरोधी रुझान (Anti-Incumbency) इन चुनावों में कोई फैक्टर नहीं था.

बिहार में बीजेपी और नीतीश कुमार का राज बरकरार, तेजस्वी की आरजेडी बनी सबसे बड़ी पार्टी

 उन्‍होंने कहा कि नीतीश की सभाओं में महिलाओं की भागीदारी ज्यादा थी जबकि राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD)  की सभाओं में महिलाओं की गैरमौजूदगी अखरती थीत्‍यागी ने यह भी दावा किया कि राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को महिलाओं और OBC समुदाय का बड़ा भारी मत प्रतिशत नीतीश की वजह से मिला है. शराबबंदी नीतीश के सोशल जस्टिस के एजेंडे का हिस्सा था और ग्रामीण इलाकों में महिलाओं ने शराबबंदी का स्वागत किया है.

बिहार की जनता ने खोखलेवादे, जातिवाद और तुष्टिकरण की राजनीति को नकारा : अमित शाह

उन्‍होंने कहा, 'मेरी राय में शराब लॉबी का असर कुछ लोगों पर था लेकिन लोगों ने उसे रिजेक्ट कर दिया है. एनडीए के सर्वोच्च नेता नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा ने दर्जनों बार सार्वजनिक तौर पर यह घोषणा की है कि नीतीश मुख्यमंत्री होंगे. इसके बावजूद कुछ ऐसे लोगों की ओर से गलत इरादे से कैंपेन चलाया गया जो ब्रांड नीतीश और एनडीए को खत्म करना चाहते हैं. बीजेपी ने गठबंधन धर्म निभाया लेकिन लोक जनशक्ति पार्टी ने सबसे ज्यादा नुकसान NDA  को पहुंचाया है.

Newsbeep

JDU के वोट काटने में LJP की बड़ी भूमिका!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com