NDTV Khabar

बिहार में एनडीए के 'संकटमोचक' बने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, ऐसे खत्म करवाई खींचतान

सूत्रों के मुताबिक खींचतान को खत्म करने में केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में एनडीए के 'संकटमोचक' बने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, ऐसे खत्म करवाई खींचतान

सूत्रों के मुताबिक खींचतान खत्म करने में अरुण जेटली की महत्वपूर्ण भूमिका रही.

खास बातें

  1. बिहार एनडीए में जारी खींचतान खत्म
  2. अरुण जेटली ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका
  3. सीट बंटवारे के मुद्दे पर बनाई सहमति
नई दिल्ली :

बिहार में एनडीए के घटक दलों के बीच सीट शेयरिंग के मुद्दे पर जारी खींचतान खत्म हो गई. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को जदयू और लोजपा नेताओं के साथ बैठक की. इस बैठक के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में तीनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे का ऐलान किया गया. सूत्रों के मुताबिक इस खींचतान को खत्म करने में केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. 2013 के बाद वे पहली बार पार्टी के लिए अपनी पुरानी 'संकटमोचक' की भूमिका में नजर आए. सूत्रों के अनुसार, 'बिहार के नेताओं से भलीभांति परिचित' अरुण जेटली ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को रामविलास पासवान की पार्टी को 6 लोकसभा सीटों के अलावा 1 राज्यसभा सीट देने के लिए तैयार किया. इससे पहले पिछले हफ्ते भी सीट शेयरिंग के मुद्दे पर अरुण जेटली और रामविलास पासवान के बीच करीब घंटे भर लंबी मीटिंग चली थी.  

NDA में खत्म हुई खींचतान, बीजेपी-जदयू-लोजपा में बंटी सीटें, रामविलास पासवान को राज्यसभा भेजने का एलान


आपको बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीट बंटवारे की घोषणा करते हुए कहा कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से 17 पर भाजपा, 17  पर जदयू और छह पर लोक जनशक्ति पार्टी चुनाव लड़ेगी. हालांकि, किस पार्टी को कौन सी सीट दी जाएगी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है. शाह ने कहा कि इस मुद्दे पर तीनों दलों के नेता एक बार फिर साथ बैठकर चर्चा करेंगे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश कुमार ने कहा, 'अब तय हो गया है कि हम सब मिलकर काम करेंगे और किसी भी मुद्दे पर बैठकर बात करेंगे. राम विलास पासवान राज्यसभा जाएंगे. जहां भी पहले चुनाव होगा, वहीं से उन्हें राज्य सभा भेजा जाएगा. बीजेपी का धन्यवाद कि उन्होंने पासवान की इच्छा का ध्यान रखेगा. 2009 में बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन था, तब पूरे देश में सिर्फ बिहार में ही एनडीए को 40 में से 32 सीटें मिली थी. इस बार उम्मीद है कि 2014 से ही नहीं बल्कि 2009 से भी बेहतर नतीजे आएंगे.' वहीं रामविलास पासवान ने कहा कि अमित शाह, नीतीश कुमार और अरुण जेटली का धन्यवाद. हमें समझौता सम्मानजनक होने की उम्मीद थी. 

बेटे चिराग के साथ अरुण जेटली से मिले रामविलास पासवान, सीटों के बंटवारे पर हुई बात 

टिप्पणियां

वीडियो- बिहार में विपक्ष के महागठबंधन में जुड़ी एक और पार्टी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement