NDTV Khabar

चमकी बुखार : बिहार सरकार ने माना कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं खस्ताहाल, हलफनामा दाखिल

बिहार सरकार ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में कम से कम 57 फीसदी पद रिक्त, डॉक्टरों की 47 प्रतिशत कमी, नर्सों के 71 प्रतिशत पद खाली

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चमकी बुखार : बिहार सरकार ने माना कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं खस्ताहाल, हलफनामा दाखिल

बिहार सरकार ने चमकी बुखार के मामले में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है.

खास बातें

  1. कहा- चमकी बुखार के मामले में मुख्यमंत्री की व्यक्तिगत रूप से नजर थी
  2. सरकार ने कोर्ट को बताया है कि चमकी बुखार से 157 बच्चों की मौत हुई
  3. सुप्रीम कोर्ट इसी हफ्ते इस मामले की सुनवाई करेगा
नई दिल्ली:

बिहार के मुजफ्फपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार ने हलफ़नामा दाखिल किया है. बिहार सरकार ने माना है कि बिहार में स्वास्थ्य सेवा खस्ताहाल है.

बिहार सरकार ने कहा कि राज्य स्वास्थ्य विभाग में सभी स्तरों पर कम से कम 50 प्रतिशत पद रिक्त हैं. स्वास्थ्य विभाग में डॉक्टरों की 57 फीसदी कमी है. 71 प्रतिशत नर्सों के पद खाली हैं. तय मानदंडों के अनुसार राज्य में उपलब्ध मानव संसाधनों में कमी है.

बिहार सरकार ने कहा है कि इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री की व्यक्तिगत रूप से नजर थी. सरकार इस बीमारी पर काबू पाने के हर संभव प्रयास कर रही है. सामाजिक और आर्थिक सर्वेक्षण के आधार पर बेहतर पोषण मुहैया कराने का आदेश सरकार ने दिए हैं.

नीतीश ने इशारों में समझाया, बीजेपी के साथ मीडिया; तो उनके साथ पूरा विपक्ष


सुप्रीम कोर्ट इस हफ्ते इस मामले की सुनवाई करेगा. बिहार सरकार ने कोर्ट को बताया है कि AES से 157 बच्चों की मौत हुई है. राज्य सरकार ने ICU की संख्या भी बढ़ाई है. इस मामले में गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है. पहले सालों के मुकाबले चमकी बुखार से मौत के मामलों में गिरावट आई है और ये 19 फीसदी रह गया है.

टिप्पणियां

VIDEO : चमकी बुखार पर नीतीश ने तोड़ी चुप्पी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement