NDTV Khabar

डीएम पति से मिलने मां को लेकर पहुंची पत्नी, गार्ड्स ने नहीं घुसने दिया अंदर, 20 घंटे धरने पर बैठी

जिलाधिकारी धर्मेंद्र की शादी 11 मार्च 2015 को पटना के बाढ की रहने वाली वत्सला सिंह के साथ हुई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डीएम पति से मिलने मां को लेकर पहुंची पत्नी, गार्ड्स ने नहीं घुसने दिया अंदर, 20 घंटे धरने पर बैठी

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  1. पति से मिलने मां के साथ पहुंची थी पत्नी.
  2. डीएम ने कहा कोर्ट में है मामला.
  3. 2015 में हुई थी शादी.
पटना:

बिहार के जमुई में जिलाधिकारी पति से मिलने पहुंची पत्नी को गार्ड्स ने अंदर नहीं घुसने दिया, इसके बाद वह धरने पर बैठ गईं. जमुई के जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार की पत्नी वत्सला सिंह अपनी मां पुष्पा सिंह से मिलने पहुंची थी. जब गार्ड्स ने अंदर नहीं घुसने दिया तो डीएम की पत्नी उनके आवास के बाहर ही धरने पर बैठ गईं. करीब 20 घंटे तक अपने पति से मिलने की जिद में धरने पर बैठी वत्सला सिंह लोगों के समझाने-बुझाने के बाद गुरुवार को पटना लौट गईं. 

जमुई के एक पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि 26 साल की वत्सला पटना से बुधवार सुबह जमुई पहुंची थी और जबरदस्ती आवास में घुसने की कोशिश की. जब उन्हें सुरक्षाकर्मियों ने रोक दिया तब वहीं वे धरने पर बैठ गई. वत्सला ने आरोप लगाया, 'मेरे पति के घर पर उनके सुरक्षा गार्ड्स ने हमें अंदर नहीं जाने दिया और दरवाजे पर ही रोक दिया. इसके बाद मैं आवास के सामने ही बैठी रही.'

दहेज पर हुई बहस तो पति ने बीवी की काट डाली जीभ, फिर दस दिनों तक रखा कैद, पिता ने पहुंचकर छुड़वाया


साथ ही वत्सला ने बताया, 'बिना कुछ बताए या चर्चा किए मेरे पति ने मार्च में पटना पारिवारिक अदालत (फैमिली कोर्ट) में हमारे तलाक की अर्जी डाल दी. मैंने उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन हर बार नाकाम रही.' बता दें, धर्मेंद्र कुमार के ऊपर उनकी पत्नी ने पहले भी कई आरोप लगाए हैं और मामला महिला आयोग के पास भी जा चुका है. वहीं, एक अधिकारी की मानें तो जिलाधिकारी जमुई में नहीं हैं और छुट्टी पर हैं. जिलाधिकारी कुमार ने फोन पर बताया कि यह मामला अदालत में है और इस पर सुनवाई हो रही है. उन्होंने कहा कि वे केवल अदालत का फैसला मानेंगे. बता दें, नालंदा के रहने वाले भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी धर्मेंद्र की शादी 11 मार्च 2015 को पटना के बाढ की रहने वाली वत्सला सिंह के साथ हुई थी. 

(इनपुट- आईएएनएस)

टिप्पणियां

दहेज की मांग पूरी न होने पर पत्नी को 'तीन तलाक' देकर घर से निकाला बाहर, मामला दर्ज

12 किलोमीटर पैदल चलकर गर्भवती पत्नी को एंबुलेंस तक पहुंचाया पर नहीं बची बच्चे की जान



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement