नीतीश कुमार चुने गए NDA विधायक दल के नेता, आज शाम 4.30 बजे शपथ ग्रहण समारोह

Nitish Elected NDA Leader : पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar)) के आवास पर NDA की बैठक हुई. BJP के पास एनडीए में सर्वाधिक 74 विधायक हैं. जबकि जदयू के 43 विधायक.

पटना:

Bihar NDA Meet: बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन एनडीए की रविवार को बैठक हुई. इसमें नीतीश कुमार को सर्वसम्मति से एनडीए विधायक दल का नेता चुना गया. नीतीश कुमार बिहार के सातवीं बार मुख्यमंत्री बनेंगे. राज्यपाल से नई सरकार बनाने का न्योता मिलने के बाद नीतीश ने कहा कि शपथग्रहण समारोह सोमवार को 4.30 बजे होगा. हालांकि मंत्रिमंडल को लेकर स्थिति अभी साफ नहीं हुई है. BJP के पास एनडीए में सर्वाधिक 74 विधायक हैं. जबकि जदयू के 43 विधायक. जबकि सहयोगी दल हम और वीआईपी के पास 4-4 सीटें हैं. इससे पहले बिहार में भाजपा और जदयू के बड़े प्रदेश नेताओं के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी एनडीए की इस महत्वपूर्ण बैठक में शामिल हुए. पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar)) के आवास पर यह बैठक हुई.

यह भी पढ़ें- RJD ने बिहार की जनता को कहा शुक्रिया, "किसे मालूम था जनादेश को 'शासनादेश' निगल जाएगा."

नीतीश कुमार को निर्विरोध नेता चुनने के बाद एनडीए के नेता राजभवन की ओर रवाना हो गए. जहां उन्होंने नई सरकार के गठन के लिए दावा किया. राज्यपाल फागू चौहान ने नीतीश को नई सरकार बनाने का न्योता दिया. शपथग्रहण समारोह सोमवार शाम 4.30 बजे होगा. मंत्रिमंडल में भाजपा या जदयू के किसके ज्यादा मंत्री होंगे, इस पर स्पष्टता नहीं है. जल्द ही मंत्रिमंडल को लेकर स्थिति साफ हो सकती है.

ikv0b3sg

Defense Minister Rajnath Singh attended the NDA meeting in Bihar, Nitish Kumar came outside the house and welcomed him

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जब बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे तो नीतीश कुमार खुद आवास के बाहर उनकी अगवानी करने पहुंचे. बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल जैसे वरिष्ठ नेता सामने वाली कुर्सियों पर बैठे थे. जबकि विधायकों के लिए सामने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अलग कुर्सियों का इंतजाम किया गया था.

यह भी पढ़ें- बिहार में नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाना भाजपा की मजबूरी क्यों हैं

इससे पहले पटना में भाजपा और जदयू विधायक दलों की भी अलग-अलग बैठक हुई. एनडीए बैठक में भाजपा, जदयू, सहयोगी दल हम और वीआईपी (VIP) के विधायक भी शामिल हुए. कुछ निर्दलीय विधायकों ने भी NDA को समर्थन दिया. एनडीए चुनाव के पहले ही नीतीश कुमार को अपना मुख्यमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित कर चुका था. भाजपा (BJP) ने भी स्पष्ट तौर पर कहा था कि एनडीए में चाहे किसी भी पार्टी को ज्यादा सीटें मिलें, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar)
ही होंगे. 

Newsbeep

नीतीश कुमार पिछली विधानसभा का कार्यकाल पूरा होता देख राज्यपाल फागू चौहान को पहले ही अपना इस्तीफा सौंप चुके थे. राज्यपाल ने नीतीश कुमार को नई सरकार का गठन होने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहने को कहा है. जीत के बाद पहली प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्यमंत्री के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा था कि एनडीए विधायक दल की बैठक में विस्तृत रूप से इस मुद्दे पर चर्चा होगी और तभी इस पर निर्णय लिया जाएगा. बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम 10 नवंबर को घोषित हुए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com