नीतीश ने प्रशांत किशोर का इस्‍तीफा ठुकराया, NRC पर अपने पुराने स्‍टैंड पर कायम रहने का दिया भरोसा

प्रशांत किशोर ने कहा- नीतीश कुमार का कहना है कि नागरिकता देने के कानून के समर्थन में उन्हें कोई खामी नजर नहीं आती

नीतीश ने प्रशांत किशोर का इस्‍तीफा ठुकराया, NRC पर अपने पुराने स्‍टैंड पर कायम रहने का दिया भरोसा

प्रशांत किशोर ने कहा है कि नीतीश कुमार एनआरसी के मुद्दे पर अपने पुराने रुख पर कायम हैं.

खास बातें

  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से प्रशांत किशोर की मुलाकात
  • कहा- नीतीश कुमार एनआरसी के पक्षधर नहीं
  • नीतीश ने कहा- NRC और नागरिकता कानून एक साथ खतरनाक
पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाईटेड (JDU) के अध्यक्ष नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के मुद्दे पर अभी भी अपने विरोध के पुराने स्टैंड पर कायम हैं. यह दावा चुनावी रणनीतिकार और जेडीयू के नेता प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने किया है. प्रशांत किशोर ने शनिवार की शाम को जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद पत्रकारों से बात करते हुए यह दावा किया.

प्रशांत किशोर ने कहा कि वे (नीतीश कुमार) अब भी नए एनआरसी पर अपने स्टैंड पर कायम हैं. उन्होंने बताया कि नीतीश कुमार का कहना है कि नागरिकता देने के कानून के समर्थन में उन्हें कोई खामी नजर नहीं आती. प्रशांत किशोर का दावा है कि एनआरसी के मुद्दे पर नीतीश कुमार अब भी अपने पुराने स्टैंड पर कायम हैं और उनका मानना है कि एनआरसी और नागरिकता कानून एक साथ खतरनाक हैं.

प्रशांत किशोर ने कहा कि शनिवार शाम की बैठक नीतीश कुमार के बुलावे पर हुई थी. उन्होंने कहा कि एक बात साफ है कि नीतीश कुमार इन सभी मुद्दों पर जल जीवन हरियाली अभियान के अपने वर्तमान दौरे के बाद विस्तृत रूप से चर्चा करेंगे.

प्रशांत किशोर ने मिलाया अरविंद केजरीवाल से हाथ, दिल्ली विधानसभा चुनाव में करेंगे साथ काम

जब प्रशांत किशोर से उनकी पार्टी जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह द्वारा उनके बारे में दिए गए बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने पहले कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह सब उनके ऊपर छोड़ने के लिए कहा है. फिर कहा कि आरसीपी सिंह बड़े नेता हैं और उनके बयान पर प्रतिक्रिया देकर वे और तूल नहीं देना चाहते, और वे व्यक्तिगत टीका-टिप्पणी नहीं करेंगे.

नागरिकता कानून को लेकर नीतीश कुमार की पार्टी में क्यों मचा है घमासान?

इससे पूर्व शुक्रवार को आरसीपी सिंह ने प्रशांत किशोर के बारे में कहा था कि वे कौन हैं और वे पार्टी से जाने के लिए स्वतंत्र हैं. इस बयान के पीछे नीतीश कुमार की सहमति मानी जा रही थी.

प्रशांत किशोर की अपील : देश के सभी गैर-BJP शासित राज्यों के CM करें CAB का बहिष्कार

Newsbeep

VIDEO : आम आदमी पार्टी के साथ आए प्रशांत किशोर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com