बिहार : चुनाव आयोग ने कहा - किसी दबाव में नहीं, तेजस्वी यादव ने लगाया था नतीजों में देरी का आरोप

चुनाव आयोग ने कहा है कि वह किसी के दबाव में नहीं है. कोरोना की परिस्थिति में नतीजे देर से आना स्वाभाविक है.

नई दिल्ली:

चुनाव आयोग ने कहा कि वे किसी के दबाव में नहीं हैं. कोरोना की परिस्थिति में नतीजे देर से आना स्वाभाविक है. अधिकतर सीटों पर नतीजे जारी किए जा चुके हैं. जहां कम फासले से उम्मीदवार जीते हैं वहां दोबारा से गिनती की जा सकती है. बाकी दूसरे मुद्दों का भी समाधान आयोग कर रहा है. 

डीईसी चंद्र भूषण सिंह ने कहा, ''हमारी वेबसाइट के अनुसार -146 सीटें पर नतीजे घोषित किए जा चुके हैं. 97 सीटों पर रुझान दिए गए है.  एक घंटे पहले सोशल मीडिया में एक संदेश आया था कि 119 सीटें एक पार्टी ने जीती हैं. परिणाम केवल 146 में दिखाए गए हैं.''

रिकाउंट के बारे में आयोग ने कहा कि ईसी निर्देश के मुताबिक डाक के मतपत्र से कम मार्जिन को अस्वीकार कर दिया गया. सभी अस्वीकृत डाक मतपत्रों को परिणामों की घोषणा से पहले सत्यापित किया जाएगा और पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जाएगी. इसलिए ऐसी स्थिति जब भी आए .. तो इस प्रक्रिया का पालन करना होगा. अगर स्थिति उत्पन्न होती है तो हम आधी रात को मीडिया का संक्षिप्त विवरण भी दे सकते हैं.''

यह भी पढ़ें:RJD का दावा, 'ये उन 119 सीटों की सूची है, जहां महागठबंधन के उम्मीदवार जीत चुके हैं, लेकिन...'

आरजेडी के आरोप पर चुनाव आयोग का कहना है कि यह ट्वीट लगभग एक घंटे पहले आया था. 146 के परिणाम घोषित हुए और 97 मामलों के रुझान उपलब्ध हैं और यह वास्तविक स्थिति है . आयोग कर्मचारी कड़ी मेहनत कर रहे हैं.

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को पिछले करीब 12 घंटे से चल वोटों की गिनती के बाद सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के हिस्से में अभी तक 68 सीटें आयी हैं जबकि विपक्षी महागठबंधन को 58 सीटें मिली हैं. रुझान देखें तो राजग को सामान्य बहुमत प्राप्त होता दिख रहा है.

चुनाव आयोग से प्राप्त ताजा रुझान के अनुसार, राजग विपक्षी महागठबंधन पर बढ़त बनाये हुए है. राजग 55 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है. वहीं पांच दलों का विपक्षी महागठबंधन 55 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है. सुबह आठ बजे से शुरू हुई वोटों की गिनती की रफ्तार कुछ धीमी है. रुझान में राजग को 123 सीटों पर बढ़त या जीत हासिल होता दिख रहा है जो 243 सदस्यीय विधानसभा में सामान्य बहुमत के आंकड़े से एक सीट अधिक है. 

वहीं, विपक्षी महागठबंधन 113 सीटों पर बढ़त या जीत हासिल करता दिख रहा है. भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, राजग के घटक दलों में भाजपा को 39 सीटों पर जीत हासिल हुई है जबकि जदयू को 27 सीटों, वीआईपी पार्टी को चार सीटों और जीतन राम मांझी की हम को दो पर जीत हासिल हुई है. रुझान के अनुसार, भाजपा 33 सीटों पर बढ़त बनाये हुए जबकि जदयू 16 सीटों, हम दो सीटों आगे चल रही है.

विपक्षी महागठबंधन में राजद के खाते में अब तक 45 सीटें गई हैं और वह 32 पर बढ़त बनाये हुए हैं. कांग्रेस ने 8 सीटें जीती है और 11 सीट पर बढ़त बनाये हुए है. माकपा को दो सीट मिली है. भाकपा ने एक सीट जीती है और दो सीटों पर बढ़त बनाये हुए. भाकपा माले ने 9 सीटें जीती हैं और 3 सीटों पर आगे चल रही है.

Newsbeep

असदुद्दीन ओवैसी की एमआईएमआईएम तीन सीट जीत चुकी है और दो सीटों पर आगे चल रही है जबकि बसपा एक सीट जीत चुकी है. एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार ने जीती है. 

रोमांचक दौर में बिहार विधानसभा चुनाव,अबतक 82 % वोटों की हुई गिनती

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com