NDTV Khabar

लालू यादव का साथ नहीं छोड़ेंगे नीतीश, 'कमजोर' का साथ उनके लिए फायदेमंद : NDTV से सुशील मोदी

क्या लालू यादव पर घोटाले के आरोपों से जुड़े सभी दस्तावजे सरकार से ही आ रहे हैं? इस पर सुशील मोदी बोले कि ऐसा नहीं है कि सारे दस्तावेज वहीं से आ रहे हैं, हां कुछ दस्तावेज सरकार के अंदर से आ रहे हैं. 

233 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मुकदमों में फंसे 'कमजोर' लालू का साथ पसंद करेंगे
  2. इससे नीतीश को सरकार चलाने में आसानी
  3. नीतीश जानते हैं लालू दबे रहेंगे
पटना: चारा घोटाले के मामले में सुप्रीम कोर्ट से आज लालू प्रसाद यादव को झटका लगा है. कोर्ट ने लालू के खिलाफ आपराधिक साजिश का केस चलाने की इजाजत दे दी है. पिछले कुछ दिनों से लालू यादव के कथित घोटाले उजागर करने वाले सुशील मोदी ने एनडीटीवी से खास बातचीत की. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार दरअसल मुकदमों में फंसे 'कमजोर' लालू का साथ पसंद करेंगे. लालू कमजोर रहेंगे तो नीतीश के लिए सरकार चलाना आसान होगा. लालू के कमजोर होने पर सरकार में हस्तक्षेप कम हो जाएगा. लालू के बेटे घुटने टेककर नीतीश के सामने रहेंगे.

नीतीश बीजेपी के साथ अच्छे थे आरजेडी के साथ नहीं? इस सवाल के जवाब पर सुशील मोदी ने कहा कि यह तो जनता और खुद नीतीश कुमार दोनों ही जानते हैं. बीजेपी के साथ उनके जीवन का स्वर्णिम समय था. गठबंधन टूटने के बाद बिहार की क्या दुर्दशा हो रही है यह सब जानते हैं. लालू यादव कई घोटालों और शहाबुद्दीन से बातचीत का टेप सामने आने को लेकर फंसे हैं. नीतीश यह अच्छी तरह जानते हैं कि लालू अब दबे रहेंगे.यह उनके लिए फायदेमंद है.

अगर नीतीश कुमार लालू यादव का साथ छोड़ देंगे तो क्या बीजेपी समर्थन देगी? इस सवाल के जवाब में सुशील मोदी ने कहा कि लालू का साथ नीतीश कभी नहीं छोड़ेंगे. लालू अपने मुकदमों में फंसे रहेंगे और नीतीश को कमजोर अलायंस चाहिए. उन्हें मजबूत पार्टनर नहीं चाहिए. आरजेडी से कमजोर पार्टनर उन्हें नहीं मिल सकता. 

आप आरजेडी को कमजोर कह रहे हैं, लेकिन आप भी लालू को ही निशाना बनाते दिख रहे हैं, नीतीश या जेडीयू को नहीं... इस सवाल के जवाब में सुशील मोदी ने कहा कि  ऐसा नहीं है. हम नीतीश के सुशासन और विकास की पोल हर रोज खोलते हैं. 

क्या लालू यादव पर घोटाले के आरोपों से जुड़े सभी दस्तावजे सरकार से ही आ रहे हैं? इस पर सुशील मोदी बोले कि ऐसा नहीं है कि सारे दस्तावेज वहीं से आ रहे हैं, हां कुछ दस्तावेज सरकार के अंदर से आ रहे हैं. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement