बिहार: तेजस्‍वी यादव ने बेरोजगारी को लेकर साधा निशाना, कहा-नीतीश जी इस मुद्दे पर ईमानदारी से..

तेजस्‍वी ने कहा बिहार में बेरोजगारी दर सबसे अधिक है! 46.6% बेरोजगारी दर का अर्थ है कि बिहार का लगभग हर दूसरा युवा बेरोजगार है.बयान में तेजस्‍वी ने कहा कि  18 से 35 वर्ष की आयु सीमा में बेरोजगारी दर इससे भी अधिक है.

बिहार: तेजस्‍वी यादव ने बेरोजगारी को लेकर साधा निशाना, कहा-नीतीश जी इस मुद्दे पर ईमानदारी से..

तेजस्‍वी यादव ने रोजगार के मुद्दे पर बिहार सरकार पर जोरदार हमला बोला है

खास बातें

  • कहा, इस मुद्दे पर दलगत राजनीति से ऊपर उठिए
  • नीतीश जी, ईमानदारी से इस मसले पर बोलिए
  • बिहार में बेरोजगारी की दर सबसे अधिक है
पटना:

Bihar Assembly election 2020: बिहार (Bihar)विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav)ने चुनावी आहट आते ही विभिन्‍न मुद्दों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को घेरना शुरू कर दिया है. शुक्रवार को उन्होंने एक बयान में कहा कि युवाओं का वर्तमान और भविष्य बर्बाद करने वाले आदरणीय नीतीश कुमार जी,आपसे यह करबद्ध प्रार्थना है कि आप दलगत राजनीति से ऊपर उठकर बिना डरे बेरोजगारी, पलायन और रोजगार सृजन जैसे सबसे अधिक प्रासंगिक और ज्वलंत मुद्दे पर ईमानदारी से बोलिए.बिहार में बेरोजगारी दर सबसे अधिक है! 46.6% बेरोजगारी दर का अर्थ है कि बिहार का लगभग हर दूसरा युवा बेरोजगार है.बयान में तेजस्‍वी ने कहा कि  18 से 35 वर्ष की आयु सीमा में बेरोजगारी दर इससे भी अधिक है.

LJP के विज्ञापन में नीतीश पर तंज? बचाव में उतरे मांझी ने चिराग पासवान को दिया जवाब

बयान में आरजेडी नेता तेजस्‍वी ने कहा कि जिन मुट्ठीभर लोगों के पास संविदा के नाम पर रोजगार है, वह भी उसे नियमित किए जाने की मांग को लेकर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. जिन्होंने परीक्षा दी वो नतीजों के लिए और जिनके नतीजे आ गए वो बहाली के लिए सड़कों पर आवाज़ उठा रहे हैं. 15 साल से रोजगार मिटाने के लिए वर्तमान सरकार एक सुदृढ़ नीति भी नहीं बना पाई. रोजगार देना तो बहुत दूर की बात है. नियोजन के नाम पर सरकार एक तिहाई वेतन पर समान कार्य करवा कर सरकार नियोजित कर्मियों का शोषण कर रही है. नियमित नौकरियों में इतना भ्रष्टाचार और घूसखोरी है कि कोई योग्य विद्यार्थी इसमें अपनी जगह बना ही नहीं पाता है.

तेजस्‍वी के अनुसार, 15 वर्षों में बिहार में कोई उद्योग नहीं लगे, कोई पूंजी निवेश नहीं हुआ, निजी संगठित क्षेत्र के रोजगार और नौकरियों के अवसर उत्पन्न हुए ही नहीं, कुटीर और घरेलू उद्योगों के लिए सरकारी अनुदान और प्रोत्साहन राशि पाने में घूसखोरी, अफसरशाही और लाल फीताशाही की इतनी दीवारें हैं कि बिना भाई भतीजावाद और रिश्वत के इसे पाना असंभव है. मुख्यमंत्री नीतीश जी से अपील है कि रोजगार सृजन के मुद्दे पर वो जनता के सामने आएँ और बताएँ कि क्यों इतना लंबा कार्यकाल व अनुभव के बावजूद उन्होंने नौकरियों के लिए कुछ नहीं किया.क्यों 15 साल की लंबी अवधि तक शासन करने के बावजूद उन्हें बचकाने बहाने और ध्यान भटकाऊ हथकंडों के पीछे छुपना पड़ रहा है?क्यों दो पीढ़ियों की प्रतिभा, सम्भावना और योग्यता को आपने अपनी शिथिल, पलटीमार और विकल्पहीन राजनीति से लील दिया?

Newsbeep

देश प्रदेश : बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर इशारों में तंज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com