लव जिहाद के मामले में जेल भेजे गए बिजनौर के मुस्लिम लड़के की नहीं हो पाई जमानत

पुलिस ने लड़की के पिता की तहरीर पर यह मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस मानती है कि लड़की को अगवा कर लिया गया था. उसका जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कर शादी का इरादा था. नए कानून के तहत ऐसे मामले में दस साल की सजा है. 

लव जिहाद के मामले में जेल भेजे गए बिजनौर के मुस्लिम लड़के की नहीं हो पाई जमानत

Love Jihad के कई दर्ज मामलों में बाद में आरोपी के खिलाफ केस गलत पाया गया. (प्रतीकात्मक)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के बिजनौर के लव जिहाद (Love Jihad) के कथित मामले में 24 दिनों से जेल में बंद 18 साल के मुस्लिम लड़के की शुक्रवार को जमानत नहीं हो पाई. लड़का 15 दिसंबर को अपने स्कूल की एक लड़की के साथ बर्थडे पार्टी से रात में लौट रहा था कि रास्ते में गांव वालों ने दोनों को चोर पकड़कर समझ लिया.लड़के को बुरी तरह पीटा गया. पुलिस बाद में लड़के को पकड़कर ले गई. उस पर लड़की के जबरन धर्म परिवर्तन कराके शादी करने का मामला दर्ज कर जेल भेज दिया. लड़केपर दलित एक्ट में भी केस दर्ज किया गया. 

लड़के के वकील कोमल सिंह का कहना है कि पुलिस ने कोर्ट में कहा है कि अभी केस डायरी नहीं आई है. दूसरे लोगों को बताया जा रहा है कि चार्जशीट फाइल कर दी गई है, लेकिन चार्जशीट फाइल नहीं हुई है. अगली तारीख 15 जनवरी दी गई है. लड़की का कहना है कि वह लड़के के साथ एक बर्थडे पार्टी से लौट रही थी. लड़की कह चुकी है कि उसका लड़के से कोई रिश्ता नहीं है. पुलिस और ग्रामीणों ने उसकी बात नहीं मानी. लड़की की मां ने भी कहा है कि शादी या धर्म परिवर्तन का कोई मामला नहीं है.

गांव के प्रधान विनोद सैनी का कहना है कि लड़की ने पूरी जानकारी थाने में दे दी थी. लड़की के पिता ने भी कहा था कि उसे कोई कानूनी कार्रवाई नहीं चाहिए. इस पर लड़की को उन्हें सौंप दिया गया, लेकिन लड़के पर लव जिहाद का मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया. पुलिस ने लड़की के पिता की तहरीर पर यह मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस मानती है कि लड़की को अगवा कर लिया गया था. उसका जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कर शादी का इरादा था. नए कानून के तहत ऐसे मामले में दस साल की सजा है. 


एसपी देहात बिजनौर का कहना है कि उसने लड़की को अपना नाम सोनू बताकर प्रेम जाल में फंसा लिया था. उसके उपरांत यहां से अपहरण करके ले गया और धर्म परिवर्तन का उस पर दबाव डाला गया. लड़की को जब जानकारी हुई तो वह किसी तरह वहां से भाग कर आई.लड़के की मां संजीदा का कहना है कि मेरा लड़का बोल कर गया था कि बर्थडे पार्टी में जा रहा हूं. अगले दिन पता चला कि वह थाने में है और फिर उसे जेल भेज दिया गया. मां यही चाहती है कि उसका लड़का छूट कर बाहर आ जाए. लड़के के घर की हालत भी ठीक नहीं है. उसके पिता लंबी बीमारी के बाद चल बसे थे. लड़के के जेल जाने से परिवार पर एक और मुसीबत आ गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com