NDTV Khabar

तीन तलाक पर रोक के लिए लोकसभा में आज फिर पेश किया जाएगा बिल

पिछले महीने 16 वीं लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने और राज्यसभा में लंबित होने से पिछला विधेयक निष्प्रभावी हो गया था

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीन तलाक पर रोक के लिए लोकसभा में आज फिर पेश किया जाएगा बिल

तीन तलाक पर पाबंदी लगाने के लिए लोकसभा में शुक्रवार को विधेयक पेश किया जाएगा.

खास बातें

  1. मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019 पेश होगा
  2. सरकार ने सितंबर 2018 और फरवरी 2019 में अध्यादेश जारी किया था
  3. अध्यादेश, 2019 के तहत तीन तलाक के तहत तलाक अवैध
नई दिल्ली:

मुस्लिम समाज (Muslim Society) में एक बार में तीन तलाक (Teen Talaq) यानी कि तलाक-ए-बिद्दत की प्रथा पर रोक लगाने के मकसद से जुड़ा नया विधेयक सरकार शुक्रवार को लोकसभा (Lok Sabha) में पेश करेगी.

लोकसभा से जुड़ी कार्यवाही सूची के मुताबिक ‘मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019' लोकसभा में पेश किया जाएगा. पिछले महीने 16 वीं लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने के बाद पिछला विधेयक निष्प्रभावी हो गया था क्योंकि यह राज्यसभा में लंबित था.

दरअसल, लोकसभा में किसी विधेयक के पारित हो जाने और राज्यसभा में उसके लंबित रहने की स्थिति में निचले सदन (लोकसभा) के भंग होने पर वह विधेयक निष्प्रभावी हो जाता है. सरकार ने सितंबर 2018 और फरवरी 2019 में दो बार तीन तलाक (Teen Talaq) अध्यादेश जारी किया था. इसका कारण यह है कि लोकसभा में इस विवादास्पद विधेयक के पारित होने के बाद वह राज्यसभा में लंबित रहा था.

ट्रिपल तलाक बिल : बीजेडी और वाईएसआर कांग्रेस को विधेयक में शामिल इस प्रावधान पर आपत्ति


मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकारों का संरक्षण) अध्यादेश, 2019 के तहत तीन तलाक के तहत तलाक अवैध, अमान्य है और पति को इसके लिए तीन साल तक की कैद की सजा हो सकती है.

VIDEO : तीन तलाक और हलाला को हटाना है

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement