बीजेडी सांसद ने लोकसभा स्पीकर से की शिकायत, चैनल पर मॉर्फ वीडियो चलाने का आरोप लगाया

ओटीवी का स्वामित्व जागी मंगत पांडा के पास है, जो भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत जय पांडा की पत्नी हैं. जय पांडा कभी बीजू जनता दल के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं. 

बीजेडी सांसद ने लोकसभा स्पीकर से की शिकायत, चैनल पर मॉर्फ वीडियो चलाने का आरोप लगाया

चंद्राणी मुर्मू ने ओटीवी पर उन्हें बदनाम करने का आरोप भी लगाया

नई दिल्ली:

BJD MP Chandrani Murmu : देश की सबसे युवा सांसद चंद्राणी मुर्मू ने उनके मॉर्फ्ड (छेड़छाड़ कर तैयार) अश्लील वीडियो (Obscene Video) के मामले में लोकसभा स्पीकर (Lok Sabha Spaeker) से गुहार लगाई है. मुर्मू ने चैनल ओटीवी पर ऐसी वीडियो प्रसारित करने का आरोप लगाया है.ओटीवी का स्वामित्व जागी मंगत पांडा के पास है, जो भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत जय पांडा की पत्नी हैं. जय पांडा कभी बीजू जनता दल के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं. 

BJD MP मुर्मू ने चैनल के रिपोर्टर पर उनकी मॉर्फ्ड तस्वीरें और वीडियो प्रसारित करने का आरोप लगाया है. इस मामले में चैनल का एक रिपोर्टर गिरफ्तार हो चुका है. चैनल का कहना है कि उसे राज्य की पटनायक सरकार (Naveen Patnaik government) के कुप्रबंधन और बाढ़ के हालात की खबरें दिखाए जाने को लेकर निशाना साधा जा रहा है.

क्योंझर से बीजेडी की लोकसभा सांसद मुर्मू (Chandrani Murmu) ने स्पीकर ओम बिरला को एक नोटिस भेजा है, जिसमें ओटीवी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव है. उन्होंने आरोप लगाया कि चैनल 15 अक्टूबर के बाद से लगातार कई फर्जी कार्यक्रम प्रसारित कर चुका है.नोटिस में मुर्मू ने कहा है कि ओटीवी के रिपोर्टर और अन्य ने छेड़छाड़ कर बनाया गया उनका एक वीडियो वायरल किया है, जिसका मकसद उन्हें बदनाम करने और मानसिक उत्पीड़न का है. 

Newsbeep

15 अक्टूबर को ओडिशा पुलिस ने इस मामले में रमेश रथ को गिरफ्तार किया था. चैनल का कहना है कि पुलिस ने यह कार्रवाई पत्रकार द्वारा सीएम नवीन पटनायक द्वारा बाढ़ के हालातों का हवाई सर्वे की खबर प्रसारित करने के बाद की गई. आरटीआई के तहत जानकारी में पता चला कि पटनायक का यह हवाई सर्वे महज 19 मिनट का था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जय पांडा ने एक ट्वीट कर कहा कि केंद्र द्वारा कोविड-19 को लेकर दिए गए करोड़ों रुपये का घोटाला ओडिशा में हो रहा है. जब यह सब बेनकाब हो गया तो राज्य सरकार पत्रकारों को निशाना बना रही है.