NDTV Khabar

बीजेपी और जेडीयू लोकसभा चुनाव में बिहार में बराबर सीटों पर लड़ेंगे : अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि राज्‍य में एनडीए बड़ी ताकत बनेगा. उन्‍होंने कहा कि सहयोगियों को सम्‍मानजनक सीटें मिलेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी और जेडीयू लोकसभा चुनाव में बिहार में बराबर सीटों पर लड़ेंगे : अमित शाह

समझौते की घोषणा करते नीतीश कुमार और अमित शाह

नई दिल्‍ली:

अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए बिहार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के बीच समझौता हो गया है. दिल्‍ली में समझौते की घोषणा खुद बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने की. इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि राज्‍य में एनडीए बड़ी ताकत बनेगा. उन्‍होंने कहा कि सहयोगियों को सम्‍मानजनक सीटें मिलेंगी. बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि कौन सी पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी इसकी घोषणा 2-3 दिन में कर दी जाएगी. शाह ने संवाददाताओं को बताया कि बहुत दिनों से बिहार में लोकसभा चुनाव के संदर्भ में सभी साथी दलों से चर्चा चल रही थी. आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ इस बारे में विस्तृत चर्चा हुई और यह तय हुआ कि भाजपा और जदयू बराबर बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगे.
 


उन्‍होंने साथ ही कहा कि उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान एनडीए में बने रहेंगे और अगर कोई नया साथी गठबंधन में शमिल हुआ तो सभी की सीटें घटेंगी.
 
वहीं जेडीयू अध्‍यक्ष और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ समझौते पर कहा, 'हमारी बातचीत हो गई है. सीटों का ऐलान 2-3 दिन में कर देंगे. जेडीयू-बीजेपी बराबर सीटों पर लड़ेंगी. बाकी सहयोगी दलों से अंतिम दौर की बातचीत चल रही है और दो-तीन दिनों में चीजें तय हो जाएंगी.' वहीं, शाह ने कहा कि यह भी तय हुआ है कि बिहार में नीतीश कुमार, रामविलास पासवान और सुशील कुमार मोदी पूरे अभियान को नेतृत्व प्रदान करेंगे. उपेन्द्र कुशवाहा के बारे में एक सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा भी हमारे साथी है और सभी एकसाथ है. सीटों के बंटवारे में संख्या के बारे में एक सवाल के जवाब में शाह ने कहा कि एक बार सैद्धांतिक बातें तय हो जाने के बाद कौन किन किन सीटों पर चुनाव लड़ेगा, इस बारे में बिहार की पार्टी इकाई और नीतीश कुमार चर्चा करके चीजें तय कर लेंगे.
टिप्पणियां

इन सब के बीच सीट बंटवारे को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच हुए समझौते पर नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने चुटकी ली. उन्होंने सीट को लेकर हुए समझौते पर कहा कि राजद गठबंधन के बढ़ते जनाधार,ज़मीनी हक़ीक़त और सर्वे का सामना करने के बाद नीतीश जी और बीजेपी के हाथ-पैर फ़ुल गए इसलिए आनन-फ़ानन में यह वोट कटाव रोकने का प्रयास है. बिहार क्रांति व बदलाव की धरती है.
 


VIDEO: बिहार NDA में सीटों को लेकर समझौता

ये चाहे ट्रम्प को भी मिला लें, बिहार की न्यायप्रिय जनता इनको कड़ा सबक़ सिखायेगी. उन्होंने बीजेपी और जेडीयू के बीच हुए समझौते को लेकर एक ट्वीट भी किया. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement