NDTV Khabar

BJP को 92% और कांग्रेस का 85% फीसदी चंदा कारपोरेट कंपनियों से मिला

राजनीतिक पार्टियों पर हमेशा इस बात के आरोप लगते रहे हैं उनके चुनावी खर्च में कारपोरेट सेक्टर मदद करता है इसके बाद जब सरकार बनती है तो नीतियां भी इन्हीं बिजनेस घरानों के लिए बनाई जाती हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP को 92% और कांग्रेस का 85% फीसदी चंदा कारपोरेट कंपनियों से मिला

राजनीतिक दलों को धड़ल्ले से मिलती है कारपोरेट से मदद (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

क्या आप जानते हैं कि जिन राजनीतिक पार्टियों को आप वोट देते हैं उनके पास चुनाव लड़ने के लिए पैसा कहां से आता है? ताज़ा आंकड़ों के अनुसार बीजेपी का 92% और कांग्रेस का 85% चंदा कारपोरेट कंपनियों से आता है.  देश मे चुनाव और पारदर्शिता पर काम करने वाली संस्था एसोसिएशन फ़ॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी ADR की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2012-13 से 2015-16 के बीच देश के 5 राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को कुल 957 करोड़ रुपये चंदा मिला. अकेले बीजेपी को 706 करोड़ रुपये कंपनियों ने दिये. जो कि उसकी कुल कमाई का 92 फीसदी है. जबकि कांग्रेस को 198 करोड़ रुपये मिले जो उसके कुल कमाई का 85% है.  खास बात ये है कि सभी पार्टियों को चार साल में मिले कुल चंदे 957 करोड़ में से 573 करोड़ लोकसभा चुनाव के साल 2014-15 में आए. 

मुख्यमंत्री पर मंथन LIVE UPDATES: कमलनाथ को MP की कमान, राजस्थान पर अब भी सस्पेंस, पायलट या गहलोत


20,000 रुपये से ऊपर के दान देने वाले की जानकारी पार्टियां चुनाव आयोग को देती हैं लेकिन अब केंद्र सरकार ने इलेक्टोरल बांड की मंजूरी दे दी जिसमें ये पता नहीं चल पाएगा कि किस पार्टी को किस कंपनी से कितना चंदा मिला. केंद्र सरकार के इस फैसले का एडीआर विरोध कर रहा है. 

मुख्यमंत्री का नाम तय करने में उलझे थे राहुल गांधी, 'इसने' की सबसे ज्यादा मदद

टिप्पणियां

गौरतलब है कि राजनीतिक पार्टियों पर हमेशा इस बात के आरोप लगते रहे हैं उनके चुनावी खर्च में कारपोरेट सेक्टर मदद करता है इसके बाद जब सरकार बनती है तो नीतियां भी इन्हीं बिजनेस घरानों के लिए बनाई जाती है लेकिन आम आदमी, किसान पिसता रहता है. 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने कमलनाथ​
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement