महिला को लात-घूंसों से पीटने वाले BJP विधायक बलराम थवानी को पार्टी ने भेजा नोटिस, तीन दिन में जवाब तलब

गुजरात में महिला से बदसलूकी करने वाले BJP विधायक बलराम थवानी (Balram Thawani) को पार्टी ने नोटिस भेजा है.

नई दिल्ली:

गुजरात में महिला से बदसलूकी करने वाले BJP विधायक बलराम थवानी (Balram Thawani) को पार्टी ने नोटिस भेजा है. गुजरात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी ने बलराम थवानी (Balram Thawani) को कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब मांगा है. इससे पहले विधायक ने महिला से मिलकर माफ़ी मांगी और प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उनसे राखी बंधवाई. दरअसल ये पूरा मामला तब सुर्खियों में आया जब विधायक का पिटाई करने वाला वीडियो वायरल हुआ. वीडियो में एक महिला उनके पास पानी की किल्लत की शिकायत लेकर पहुंची थी, लेकिन विधायक और उनके समर्थकों ने उन्हें लात घूसों से मारना शुरू कर दिया. बाद में विधायक ने ग़लती मानते हुए माफ़ी मांगी और अब पार्टी ने उन्हें नोटिस भेजा है.

शिकायत सुनने के बाद समस्या के निपटारे की बजाय विधायक और उनके साथियों ने महिला को धक्का देकर सड़क पर गिरा दिया और फिर लात-घूंसों से बेरहमी से पिटाई कर दी. महिला रहम की भीख मांगती रही, लेकिन विधायक पर कोई असर नहीं हुआ. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के विधायक ने पहले माफ़ी मांगी फिर महिला से मिलकर सुलह की. फिर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महिला से राखी बंधवाई और दावा किया कि अब कोई विवाद नहीं है.

BJP विधायक ने पहले मारी महिला को लात, फिर बंधवाई राखी तो बॉलीवुड एक्ट्रेस बोलीं- ऐसा ड्रामा...

देेखें VIDEO

वीडियो वायरल होने के बाद BJP विधायक ने सफाई देते हुए कहा, 'कुछ लोगों ने पीछे से मुझपर हमला किया
जिसकी वजह से मैं गिरा और महिला को लात लग गई. ये सब जोश में हो गया है. मैं अपनी गलती मान रहा हूं. ऑफिस में आकर हमला करना भी तो ठीक नहीं है, मैं अपना बचाव तो करूंगा ना.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

BJP विधायक से मिलने आई NCP महिला समर्थक को जड़े थप्पड़, लात-घूसों से की पिटाई, देखें VIDEO

वहीं, पीड़िता ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, ''मैं विधायक बलराम से इलाके में पानी की सही आपूर्ति नहीं मिल पाने की समस्या को लेकर मिलने गई थी. बिना कुछ कहे, वह (बलराम) आए और मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी. जब मेरे पति ने यह देखा तो उन्होंने आकर मुझे बचाया. जल्द ही बलराम के कुछ समर्थक अंदर से आए और मेरे पति को डंडे से मारना शुरू कर दिया. जो महिलाएं मेरे साथ विरोध-प्रदर्शन कर रही थीं, उन्हें भी बलराम और उनके समर्थकों द्वारा बुरी तरह पीटा जाने लगा.''