NDTV Khabar

सांस लेने में तकलीफ के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया

पूर्व वित्त मंत्री व बीजेपी के दिग्‍गज नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) को दिल्‍ली के एम्‍स में भर्ती कराया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सांस लेने में तकलीफ के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया

बीजेपी के दिग्‍गज नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) को दिल्‍ली के एम्‍स में भर्ती कराया गया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीएम मोदी समेत कई नेता अस्पताल पहुंचे
  2. सांस लेने में तकलीफ के बाद कराया गया था भर्ती
  3. अरुण जेटली ने इस बार मंत्री न बनाने का आग्रह किया था
नई दिल्ली :

पूर्व वित्त मंत्री व बीजेपी के दिग्‍गज नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) को दिल्‍ली के एम्‍स में भर्ती कराया गया है. उन्‍होंने सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की थी जिसके बाद उन्‍हें शुक्रवार सुबह 11 बजे एम्‍स में भर्ती कराया गया. डॉक्‍टरों की टीम उनकी निगरानी कर रही है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अस्पताल पहुंचे हैं. वहीं, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी उनका हाल जानने एम्‍स पहुंचे हैं. मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर उनके जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की है. दूसरी तरफ खबर है कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला भी एम्स पहुंचे हैं. उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की कुशल क्षेम पूछी और परिजनों एवं उपचार कर रहे चिकित्सकों से की चर्चा. 

एम्स ने एक बयान जारी कर कहा है, 'अरुण जेटली आज सुबह अस्पताल लाए गए थे. फिलहाल वे डॉक्‍टरों की देखरेख में आईसीयू में हैं और उनकी हालत स्थिर है.' एम्स के एक वरिष्ठ चिकित्सक के मुताबिक एंडोक्रिनोलॉजिस्ट, नेफ्रोलॉजिस्ट और कार्डियोलॉजिस्ट की एक टीम उनकी सेहत पर नजर रखे हुए है. जेटली के परिवार के सदस्य एम्स के कार्डियोथोरेसिस और न्यूरोसाइंसेस सेंटर के वीआईपी कक्ष में मौजूद हैं. बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में नई मंत्रिपरिषद के शपथ ग्रहण समारोह से एक दिन पहले 29 मई को पूर्व वित्त मंत्री जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि वह स्वास्थ्य कारणों से नई सरकार में मंत्री नहीं बनना चाहते.


अरुण जेटली को मिला दूसरा सरकारी आवास, 22 अकबर रोड पर आवंटित हुआ 'टाइप 8' बंगला

टिप्पणियां

राज्यसभा सदस्य जेटली ने कहा था कि पिछले 18 महीनों से वह स्वास्थ्य संबंधी गंभीर चुनौतियों से जूझ रहे हैं और इसलिए भविष्य में किसी जिम्मेदारी से खुद को दूर रखना चाहेंगे तथा इलाज एवं स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करेंगे.     

Video:मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होंगे अरुण जेटली, पीएम को लिखा पत्र​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement