संबित पात्रा का राहुल गांधी पर तंज, कहा- कांग्रेस नेता को 'झूठों का सरदार' कहें, तो कोई बड़ी बात नहीं

BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'राहुल गांधी से अच्छी भाषा की अपेक्षा करना ये बहुत ज्यादा अपेक्षा करना है. ये कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी की हम राहुल गांधी को 'झूठों का सरदार' कहें.'

खास बातें

  • संबित पात्रा ने राहुल गांधी को दिया जवाब
  • राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी को बताया झूठा PM
  • UPA सरकार ने असम में बनवाए थे 3 डिटेंशन सेंटर
नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर जमकर हमला बोला. उन्होंने राहुल गांधी के उस बयान पर हमला बोला जिसमें कांग्रेस नेता ने कहा था कि RSS के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं. संबित पात्रा ने कहा, 'राहुल गांधी से अच्छी भाषा की अपेक्षा करना ये बहुत ज्यादा अपेक्षा करना है. ये कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी की हम राहुल गांधी को 'झूठों का सरदार' कहें. जैसे राहुल गांधी ने राफेल मामले में किस प्रकार से माफी मांगी थी क्योंकि उन्होंने झूठ बोला था.'

बीजेपी प्रवक्ता ने आगे कहा, 'प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि ऐसा कोई डिटेंशन कैंप नहीं है, जिसमें एनआरसी के बाद हिंदुस्तान के मुसलमानों को रखा जाएगा. ये झूठ फैलाया जा रहा है. इसमें प्रधानमंत्री जी ने क्या झूठ बोला है. दिसंबर 2011 की प्रेस रिलीज में खुद राहुल गांधी की सरकार ने माना है कि उन्होंने असम में 3 डिटेंशन सेंटर बनवाए थे. 20 अक्टूबर, 2012 को असम की कांग्रेस सरकार ने श्वेत पत्र जारी किया था. इसमें पेज 38 में लिखा है कि केंद्र सरकार ने असम सरकार को ये निर्देश दिया है कि आप डिटेंशन सेंटर सेट कीजिए.'

डिटेंशन सेंटर पर PM मोदी के दावे को लेकर राहुल गांधी का निशाना- RSS के प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलते हैं

संबित पात्रा ने आगे कहा, '13 दिसंबर, 2011 को केंद्र सरकार के एक प्रेस रिलीज में कहा गया था कि 3 डिटेंशन कैंप असम में खोले गए हैं और 362 लोग इन सेंटर में रख गए हैं. 2011 में केंद्र में कांग्रेस सरकार थी. इनका मकसद एक है कि ये चाय वाला कैसे प्रधानमंत्री बन गया, जबकि प्रधानमंत्री तो प्रथम परिवार के व्यक्ति को ही बनना था. झूठों के सरदार से आज मैं पूछना चाहता हूं कि क्या आज आप देश से फिर माफी मांगेंगे? किसी भी विषय पर राहुल गांधी जी का कोई ज्ञान नहीं है और हर विषय पर टांग अड़ाना है. इनका मकसद न CAA का है और न ही NPR का है.'

पीएम नरेंद्र मोदी ने चश्मा लगाकर देखा Surya Grahan, बोले- 'सूरज बादल में छिप गया था...'

उन्होंने आगे कहा, 'कोर्ट स्पष्ट कहती है कि ये सब तब के गृह मंत्रालय के अनुसार हुआ था. गुवाहाटी हाईकोर्ट में हुए एक केस के अनुसार कोर्ट ने माना है कि 2009 में जो पत्रक उस समय के गृह मंत्रालय ने जारी किया था, उसके अंदर डिटेंशन सेंटर और उसमें लोगों को रखने के नियम हैं. क्या अब राहुल गांधी जी मांफी मांगेंगे.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: प्रदर्शनों में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने जा रहे राहुल-प्रियंका को पुलिस ने रोका