महात्मा गांधी के स्वतंत्रता आंदोलन को 'ड्रामा' बताने वाले बयान पर बोले BJP सांसद हेगड़े- मैंने गांधी का नाम ही नहीं लिया

अनंत हेगड़े ने पूरे मामले पर कहा है "सभी संबंधित मीडिया रिपोर्टें झूठी हैं, मैंने कभी नहीं कहा , जिस पर बहस हो रही है. यह एक अनावश्यक विवाद है."

महात्मा गांधी के स्वतंत्रता आंदोलन को 'ड्रामा' बताने वाले बयान पर बोले BJP सांसद हेगड़े- मैंने गांधी का नाम ही नहीं लिया

बीजेपी नेता अनंत हेगड़े (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

महात्मा गांधी को लेकर दिए गए बयान को लेकर विवादों में चल रहे कर्नाटक से बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने इस मुद्दे पर सफाई दी है. अनंत हेगड़े ने पूरे मामले पर कहा है "सभी संबंधित मीडिया रिपोर्टें झूठी हैं. मैंने कभी वह नहीं कहा , जिस पर बहस हो रही है. यह एक अनावश्यक विवाद है.यदि कोई देखना चाहता है तो भाषण सार्वजनिक डोमेन में है. यह ऑनलाइन और मेरी वेबसाइट पर भी उपलब्ध है. मैंने कभी महात्मा गांधी और पंडित नेहरू के खिलाफ एक शब्द नहीं कहा. मैं सिर्फ हमारे स्वतंत्रता संग्राम के बारे में चर्चा कर रहा था.1 फरवरी 2020 को दिए मेरे बयान की जिम्मेदारी लेता हूं. मैंने किसी राजनीतिक पार्टी, महात्मा गांधी या किसी और का कोई जिक्र नहीं किया था. मैंने सिर्फ स्वतंत्रता संग्राम को वर्गीकृत करने की कोशिश की थी."

गौरतलब है कि महात्मा गांधी पर भाजपा सांसद अनंत हेगड़े की विवादित टिप्पणी को लेकर लोकसभा में मंगलवार को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के सदस्यों ने सदन में भारी हंगामा किया और हेगड़े के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए सदन से वाकआउट किया.दूसरी तरफ, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस पर ‘नकली गांधी का अनुयायी' होने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा महात्मा गांधी की असली अनुयायी है.

इसी विषय पर सदन की कार्यवाही जब दोपहर 12 बजे आरंभ हुई तो कांग्रेस के सदस्य हंगामा करने लगे. द्रमुक और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य अपने स्थान पर खड़े हो गए. सदन में शून्यकाल के दौरान इस विषय को उठाते हुए लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीररंजन चौधरी ने कहा कि पूरी दुनिया गांधी की पूजा करती है, लेकिन भाजपा के लोग राम के पुजारी का अपमान कर रहे हैं. उन्होंने भाजपा पर ‘गोडसे पार्टी' होने का आरोप लगाया और कहा कि इस मामले पर सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए.

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की आर्मी चीफ को सलाह, कहा- 'बोलें कम, काम ज्यादा करें', जानें पूरा मामला...
सदन में अपनी बात रखते हुए चौधरी ने भाजपा के लिए एक शब्द का इस्तेमाल किया जिसे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यवाही से हटाने का निर्देश दिया. कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. उन्होंने ‘गोडसे पार्टी मुर्दाबाद' और ‘महात्मा गांधी अमर रहें' के नारे लगाए. संसदीय कार्य मंत्री जोशी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि ये लोग ‘नकली गांधी' के अनुयायी है, जबकि भाजपा महात्मा गांधी का सही मायने में अनुसरण करती है.उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर भाजपा के सभी सांसदों ने गांधी की 150वीं जन्म जयंती के मौके पर पद यात्राएं निकालीं.
जोशी ने यह भी कहा कि हेगड़े ने स्पष्ट कर दिया कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा जिसकी चर्चा की जा रही है.

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में बोले- आज ये महात्मा गांधी को गाली देते हैं, ये रावण की औलाद हैं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बाद में कांग्रेस, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस और राकांपा के सदस्य सदन से वाकआउट कर गए. इससे पहले इसी विषय विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ ही मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.सदन की कार्यवाही आरंभ होते ही सभा ने ओमान के दिवंगत सुल्तान कबूस बिन सईद और कई पूर्व दिवंगत लोकसभा सदस्यों को कुछ पल मौन रखकर श्रद्धांजलि दी. इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने जैसी ही प्रश्नकाल शुरू किया तो कांग्रेस, द्रमुक और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य अपने स्थान पर खड़े हो गए. कांग्रेस सदस्यों ने हेगड़े की विवादित टिप्पणी का मुद्दा उठाया और ‘महात्मा गांधी अमर रहे' के नारे लगाए.

VIDEO: महात्‍मा गांधी का स्‍वतंत्रता संघर्ष था नाटक, हमें सत्याग्रह से नहीं मिली आजादी: अनंत हेगड़े