16 नवंबर को ही जारी हो चुका है व्हिप, मंदिर निर्माण के लिए कानून संसद के शीतकालीन सत्र में होगा पारित : BJP सांसद का दावा

बीजेपी सांसद ने कहा कि संसद में जब राम मंदिर के कानून को लेकर चर्चा होगी, तब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की असलियत का भी पता चल जायेगा कि वह कितने बड़े जनेऊधारी और शिवभक्त हैं.  

16 नवंबर को ही जारी हो चुका है व्हिप, मंदिर निर्माण के लिए कानून संसद के शीतकालीन सत्र में होगा पारित : BJP सांसद का दावा

बीजेपी सांसद का दावा है कि 16 नवंबर को व्हिप जारी कर दिया गया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सलेमपुर सीट से सांसद हैं रवींद्र कुशवाहा
  • सांसद ने किया है बड़ा दावा
  • राम मंदिर के लिए बिल लाने की तैयारी
नई दिल्ली:

भाजपा सांसद रवीन्द्र कुशवाहा ने अगले महीने शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिये कानून पारित हो जाने का दावा करते हुए कहा है कि इसके लिये केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने सत्र के दौरान अपने सभी सांसदों को दिल्ली से बाहर ना जाने का हुक्म दिया है. सलेमपुर सीट से सांसद कुशवाहा ने कल बिल्थरा रोड इलाके में ‘कमल संदेश यात्रा' के मौके पर एक सभा को सम्बोधित करते हुए दावा किया कि आगामी 11 दिसम्बर को शुरू होने वाले संसद सत्र में राम मंदिर निर्माण का कानून पारित हो जायेगा. उन्होंने यह भी कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने गत 16 नवम्बर को ही अपने सभी सांसदों को ‘व्हिप‘ जारी करते हुए संसद सत्र के दौरान दिल्ली से बाहर ना जाने के निर्देश दिये हैं. कुशवाहा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने तय कर लिया है कि शीतकालीन सत्र में राम मंदिर निर्माण के लिये कानून पारित करा लिया जाय. मोदी सरदार पटेल को अपना गुरु मानते हैं. पटेल ने जिस तरह तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की अनिच्छा के बावजूद संसद से सोमनाथ मंदिर के पुनर्निर्माण का कानून बनवाया, उसी तर्ज पर मोदी भी राम मंदिर के लिये कानून बनाएंगे. 

यूपी सरकार के मंत्री बोले, 2019 से पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण तय, CM योगी करेंगे शिलान्यास

उन्होंने कहा कि संसद में जब राम मंदिर के कानून को लेकर चर्चा होगी, तब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की असलियत का भी पता चल जायेगा कि वह कितने बड़े जनेऊधारी और शिवभक्त हैं. कुशवाहा ने राफेल विमान खरीद को लेकर मोदी सरकार पर लगातार हमले कर रहे राहुल पर आरोप लगाया कि राजनीति में विफल होने के बाद राहुल जनता को गुमराह करने और पाकिस्तान तथा चीन से सूचनाएं साझा करने के लिये राफेल का फर्जी मामला उठा रहे हैं.  

कानून या कोर्ट के आदेश के बिना अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण मुश्किल : बाबा रामदेव

इससे पहले बीजेपी नेता और विधायक सुरेंद्र सिंह (Surendra Singh) अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर अपनी ही पार्टी की मुखालफत पर उतर आए. सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि ताकतवर पद पर होने के बावजूद राम मंदिर निर्माण के लिए कदम न उठाने पर पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आलोचना की है. मीडिया से बातचीत करते हुए सुरेंद्र सिंह ने कहा, ''हमारे पास नरेंद्र मोदी जी जैसा प्रधानमंत्री है और योगी आदित्यनाथ जी जैसा मुख्यमंत्री. दोनों हिंदुत्व को मानते हैं, लेकिन दुर्भाग्यवश उनके शासनकाल में भगवान राम टेंट में हैं''. सुरेंद्र सिंह बलिया के रसड़ा विधानसभा सीट से विधायक हैं.

'विवादित जगह पर मंदिर को दी जाए'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



इनपुट : भाषा