बंगाल में अमित शाह बोले- ममता दीदी को डर था कि हमारी यात्रा निकली तो सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाएगी

अमित शाह ने कहा, 'बंगाल में टीएमसी की सरकार ने लोकतंत्र को समाप्त कर दिया है. हम बंगाल में रथ यात्रा निकालने वाले थे लेकिन हमें राज्य सरकार ने रोक दिया. उन्हें लगा कि यह यात्रा उनके लिए अंतिम यात्रा न हो जाए.'

खास बातें

  • मालदा में रैली में शाह ने ममता पर साधा निशाना
  • कहा- बंगाल में लोकतंत्र खत्म हो गया
  • 'ममता ने बंगाल को कंगाल बना दिया'
कोलकाता:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में एक रैली (Amit Shah Rally in Bengal) को संबोधित करते हुए राज्‍य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)पर निशाना साधा. शाह (Amit Shah) ने कहा कि ममता दीदी को डर था कि अगर हमारी यात्रा राज्य में निकलती है तो उनकी सरकार की अंतिम यात्रा निकल जाएगी. रैली को संबोधित करते हुए शाह (Amit Shah) ने कहा, 'यह चुनाव पार्टियों के बीच का चुनाव है. यह बंगाल की संस्कृति को समाप्त करने वाली टीएमसी को हराने का चुनाव है. यह बंगाल की जनता को निर्णय लेना है कि संस्कृति को बचाने वाली बीजेपी को लाएंगे या उनकी संस्कृति को खत्म करने वाली टीएमसी को. सुभाष चंद्र को भुलाने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी. लेकिन पीएम मोदी सुभाष बाबू के जीवन, देशभक्ति और उनके बंगाल को अमर करने के लिए अंडमान के टापू का नाम सुभाष जी के नाम पर रखने का फैसला किया है.

साथ ही उन्होंने कहा, 'देश के आजाद होने के बाद पश्चिम बंगाल हर जगह देश का नेतृत्व करता था. कला, संस्कृति और हर क्षेत्र में बंगालियों का नाम था. एक लंबे के समय कम्युनिस्ट शासन और ममता दीदी के शोषण के बाद आज बंगाल जहां है, उसकी कल्पना आप नहीं कर सकते. एक समय बंगाल का औद्योगिक उत्पादन दर 27 फीसदी था जो आज 3.3 फीसदी रह गया है. बंगाल को टीएमसी ने कंगाल बना दिया. पहले 100 में 32 रोजगार बंगाल देता था, आज यह आंकड़ा महज चार का है. कम्युनिस्ट तो बुरे थे ही, बंगाल की जनता ने इन्हें निकालने के लिए परिवर्तन किया और टीएमसी को लाया. लेकिन आज जनता कहती है की टीएमसी से तो कम्युनिस्ट अच्छे थे. हर पांचवा व्यक्ति गरीबी रेखा के नीचे जी रहा है.'

यूपी के लिए क्या है अमित शाह का प्लान, आंकड़ों में देखिए BJP मजबूत या SP-BSP गठबंधन?

इसके अलावा शाह ने कहा, 'बंगाल में टीएमसी की सरकार ने लोकतंत्र को समाप्त कर दिया है. हम बंगाल में रथ यात्रा निकालने वाले थे लेकिन हमें राज्य सरकार ने रोक दिया. उन्हें लगा कि यह यात्रा उनके लिए अंतिम यात्रा न हो जाए. कोई बात नहीं दीदी हम ज्यादा मेहनत करेंगे लेकिन इस बार आपको बंगाल से हटाकर रहने वाले हैं. मैं आपको बताता हूं कि पंचायत चुनाव हुए थे, उस दौरान बड़ी संख्या में हमारे कार्यकर्ताओं की हत्या हुई. आपको कहता हूं और टीएमसी को भी कहता हूं कि पंचायत चुनाव वाली गलती लोकसभा चुनाव में मत करना. वर्ना हम ईंट से ईंट बजा देंगे. यह चुनाव बंगाल सरकार के अंडर नहीं होने वाला है. यह चुनाव आयोग के अंडर होगा, यहां पैरामिलिट्री होगी.'

लोकसभा चुनाव 2019 : ममता बनर्जी के मंच से संकेत, क्या पीएम पद के लिए राहुल गांधी की राह और कठिन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO- पीएम पद के लिए ममता की दावेदारी कितनी मजबूत?