NDTV Khabar

राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसले आने के बाद BJP ने गिनाए राहुल गांधी के ये 4 बड़े झूठ

भारतीय वायुसेना के लिये फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के सौदे के मामले में दिसंबर, 2018 के अपने निर्णय पर पुनर्विचार के लिये दायर याचिकायें गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

राफेल डील पर दाखिल सभी पुनर्विचार याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट की ओर से खारिज किए जाने के बाद भाजपा ने खुशी जाहिर की है. भाजपा ने कहा कि  सत्य की जीत हुई है, यह मोदी सरकार की बड़ी जीत है और कांग्रेस नेता राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए. बता दें, भारतीय वायुसेना के लिये फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के सौदे के मामले में दिसंबर, 2018 के अपने निर्णय पर पुनर्विचार के लिये दायर याचिकायें गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया. इसके बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके राहुल गांधी पर निशाना साधा. 

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, 'कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी देश से माफी मांगे. जनता ने जीप से लेकर अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला देखा. जिनके पूरे हाथ भ्रष्टाचार से भरे है वो अपनी राजनीति को प्रायोजित झूठ से बढ़ा रहे थे. 14 दिसंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट का फैसला था कि सोच के आधार पर कोर्ट का फैसला नहीं हो सकता.' 

राफेल मामले में SC के फैसले पर BJP ने कहा- सत्य की जीत हुई, राहुल गांधी मांगें देश से माफी


उन्होंने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट के फैसले के पहले देश मे प्रायोजित कार्यक्रम चलाया गया. कोर्ट में हारने के बाद लोकसभा चुनाव में प्रमुख मुद्दा बनाया और राहुल गांधी ने कहा कि कोर्ट ने लोकप्रिय नेता को चोर कहा है. कोर्ट ने आज अपने फैसले में राहुल गांधी को कहा कि आप सावधानी बरतें और आपने माफी मांगी है इसलिए छोड़ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने हमेशा कहा है कि राफेल की गुणवत्ता पर कोई सवाल नहीं है.' इस दौरान रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी के चार झूठ गिनाए.

पहला झूठ: राहुल गांधी ने पहले कहा कि रिलायंस को ऑफसेट पार्टनर बनाया. भारत सरकार ने कहा ये हमने नहीं, फ्रांस की कंपनी ने किया. 

दूसरा झूठ: फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद पीएम मोदी को चोर कहा है. यह गलत कहा गया. 

तीसरा झूठ: राहुल ने संसद में झूठ बोला कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा है कि इस डील को डिस्क्लोज कर सकते है. फ्रांस सरकार ने इसे झूठ करार दिया. 

चौथा झूठ: कैबिनेट कमेटी (सिक्यूरिटी) को विश्वास में नहीं लिया गया.

राफेल, राहुल और सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, पढ़ें- 10 खास बातें

वहीं, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ट्वीट किया, ‘उच्चतम न्यायालय ने राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी. शीर्ष अदालत ने कहा कि राहुल गांधी को पूरा आदेश पढ़े बिना कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करनी चाहिए तथा उन्हें भविष्य में सावधान रहना चाहिए.' नड्डा ने कहा, ‘सड़क से लेकर संसद तक राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने देश को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन सत्य की जीत हुई. मैं आशा करता हूं कि राहुल गांधी देश में होंगे और राष्ट्र से क्षमा मांगेंगे.'

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘न्यायालय के फैसले ने एक बार फिर राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं सरकार के दृढ़ संकल्प की पुष्टि की है. उम्मीद है कि कांग्रेस पार्टी और उसके पूर्व अध्यक्ष झूठ फैलाना बंद करेंगे एवं राष्ट्र निर्माण और देश की सुरक्षा के प्रति सकारात्मक योगदान देंगे.' भाजपा प्रवक्त सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘सत्यमेव जयते. सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं.'

टिप्पणियां

राफेल सौदे में मोदी सरकार को क्लीन चिट, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- याचिकाओं में कोई मेरिट नहीं

VIDEO: रफाल विमान सौदे पर दाखिल सभी पुनर्विचार याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement