प्रधानमंत्री के इस्तीफे के बाद ही चलेगी संसद : भाजपा

खास बातें

  • भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि कोयला ब्लॉक आवंटन के मुद्दे पर वह संसद की कार्यवाही आगे भी बाधित करती रहेगी। पार्टी का कहना है कि बहस कराने मात्र का कोई मतलब नहीं है जब तक कि निर्णय लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई न हो और जवाबदेही तय न हो।
चेन्नई:

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि कोयला ब्लॉक आवंटन के मुद्दे पर वह संसद की कार्यवाही आगे भी बाधित करती रहेगी। पार्टी का कहना है कि बहस कराने मात्र का कोई मतलब नहीं है जब तक कि निर्णय लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई न हो और जवाबदेही तय न हो।
 
भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू ने कहा कि जब तक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस्तीफा नहीं दे देते तब तक उनकी पार्टी संसद नहीं चलने देगी। उन्होंने कहा कि जब तक प्रधानमंत्री इस्तीफा नहीं दे देते और सभी कोयला ब्लॉक आवंटन रद्द नहीं किए जाते और निष्पक्ष जांच नहीं कराई जाती तब तक भाजपा इस लड़ाई को सड़कों पर लड़ेगी।
 
नायडू ने कहा, 'जब तक प्रधानमंत्री अपना इस्तीफा नहीं दे देते हम संसद की कार्यवाही बाधित करते रहेंगे।' उन्होंने कहा कि इस सरकार को जाना चाहिए क्योंकि उसके राज में एक से बढ़कर एक घोटाले हुए हैं और वह आर्थिक और कृषि के मोर्चे पर भी विफल रही है। उन्होंने कहा, 'जनता अब तय करेगी। इस गतिरोध को दूर करने की जिम्मेदारी सरकार की है।'उन्होंने कहा कि भाजपा जनता के समक्ष जाने को तैयार है जबकि कांग्रेस डरी हुई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com